Corona:पैदल पहुंचे लोगों को किया सैनिटाईज़,प्रशासन ने कही कार्रवाई की बात

लॉकडाउन के चलते सैंकड़ों मजदूरों के दिल्‍ली से बरेली पहुंचने पर केमिकल के छिड़काव का मामला सामने आया है. प्रशासन के इस कदम की कांग्रेस ने निंदा की है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस मामले पर यूपी सरकार से आग्रह किया है कि मजदूरों को केमिकल से इस तरह मत नहलाइये. इसके बाद बरेली के डीएम ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

यूपी सरकार से गुजारिश है कि हम सब मिलकर इस आपदा के खिलाफ लड़ रहे हैं लेकिन कृपा करके ऐसे अमानवीय काम मत करिए।
मजदूरों ने पहले से ही बहुत दुख झेल लिए हैं। उनको केमिकल डाल कर इस तरह नहलाइए मत। इससे उनका बचाव नहीं होगा बल्कि उनकी सेहत के लिए और खतरे पैदा हो जाएंगे। pic.twitter.com/ftovaFHR5q
— Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) March 30, 2020

प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘यूपी सरकार से गुजारिश है कि हम सब मिलकर इस आपदा के खिलाफ लड़ रहे हैं लेकिन कृपा करके ऐसे अमानवीय काम मत करिए. मजदूरों ने पहले से ही बहुत दुख झेल लिए हैं. उनको केमिकल डाल कर इस तरह नहलाइए मत. इससे उनका बचाव नहीं होगा बल्कि उनकी सेहत के लिए और खतरे पैदा हो जाएंगे.’
वहीं बरेली के मामले पर वहां के डीएम ने भी ट्वीट करके प्रशासन की गलती मानी है. बरेली के डीएम ने ट्वीट किया, ‘इस वीडियो की पड़ताल की गई, प्रभावित लोगों का सीएमओ के निर्देशन में उपचार किया जा रहा है. बरेली नगर निगम एवं फायर ब्रिगेड की टीम को बसों को सैनेटाइज़ करने के निर्देश थे, पर अति सक्रियता के चलते उन्होंने ऐसा कर दिया. सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं.’

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

इस वीडियो की पड़ताल की गई, प्रभावित लोगों का सीएमओ के निर्देशन में उपचार किया जा रहा है। बरेली नगर निगम एवं फायर ब्रिगेड की टीम को बसों को सैनेटाइज़ करने के निर्देश थे, पर अति सक्रियता के चलते उन्होंने ऐसा कर दिया। सम्बंधित के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। https://t.co/y8TmuCNyu5
— District Magistrate (@dmbareilly) March 30, 2020

हालांकि कुछ ट्विटर यूजर्स ने प्रियंका गांधी को ट्रोल किया. इन यूजर्स ने विदेश की कुछ तस्‍वीरें शेयर कर कहा कि ऐसा विदेश में भी किया जा रहा है. उनके इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए ब्‍लूक्राफ्ट डिजिटल फाउंडेशन के सीईओ अखिलेश मिश्रा ने लिखा, ‘समस्‍या सिर्फ सोनिया गांधी परिवार के अयोग्‍य होने की नहीं है, बल्कि उनकी ओर से उपलब्‍ध कराई जा रही जानकारी कम पढ़े लिखे लोगों के होने की वजह से सामने आ रही है.’ इसके बाद उन्‍होंने विदेश की कुछ फोटो शेयर कर की.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button