मेरठ में सपा नेता के खिलाफ केस दर्ज, हिंडौन में कर्फ्यू जारी

SC/ST एक्ट में बदलाव के बाद 2 अप्रैल को दलित समुदाय द्वारा जो भारत बंद बुलाया गया था, उसमें काफी हिंसा हुई. अभी दो दिन बाद भी इस हिंसा का असर देश के कई हिस्सों में दिख रहा है. बुधवार को मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के महाराजपुर थाने इलाके में कर्फ्यू में थोड़ी ढील दी गई है. इसके अलावा वहां पर इंटरनेट सर्विस भी दोबारा चालू कर दी गई है.

मेरठ में सपा नेता के खिलाफ केस दर्ज, हिंडौन में कर्फ्यू जारीसपा नेता पर केस दर्ज

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ में भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में समाजवादी पार्टी के नेता अतुल प्रधान और विपिन मनोथिया के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. मेरठ शहर के एसपी मानसिंह चौहान ने इस बात की जानकारी दी. इसके अलावा पूर्व बसपा विधायक योगेश वर्मा को पहले ही उनके 10 समर्थकों के साथ गिरफ्तार किया गया था. ममता नाम की एक महिला को आज ही गिरफ्तार किया गया है.

राजस्थान में कैसी है परिस्थिति?

राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में 5,000 लोगों की उग्र भीड़ द्वारा वर्तमान भाजपा विधायक और एक पूर्व विधायक के घरों में आग लगाने और अन्य स्थानों पर आगजनी एवं पत्थरबाजी की घटना के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया. हिंडौन में अभी भी कर्फ्यू जारी है, दोपहर 1 बजे तक के लिए कर्फ्यू को बढ़ाया गया है. इलाके में बस, स्कूल और इंटरनेट की सुविधा बंद है. इसके अलावा लगातार पुलिस इलाके में गश्त कर रही है.

राजस्थान के 7-8 जिलों में अभी भी धारा 144 लगी हुई है, वहीं इन सभी जिलों में इंटरनेट की सुविधा भी बंद है. जिन इलाकों में तनाव बरकरार है, वहां पर पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है. वहीं अलवर में सीआरपीएफ की कंपनियों को तैनात किया गया है. मंगलवार की घटना के बाद हिंडौन में बीएसएफ ने फ्लैग मार्च किया था.

मध्यप्रदेश में क्या हैं हालात?

पिछले 24 घंटे में ग्वालियर में कोई बड़ी घटना की खबर नहीं है. इसके अलावा ग्वालियर में कुछ जगह कर्फ्यू में ढील दी गई है, वहीं इंटरनेट की सुविधा को दोबारा शुरू किया गया है. इसके अलावा भिंड में अभी भी कर्फ्यू लगा हुआ है, वहीं इंटरनेट अभी भी बंद है.

भिंड के अलावा मुरैना में भी कर्फ्यू लगा हुआ है. सुबह 11 बजे स्थिति का जायजा लिया जाएगा, उसके बाद ही इस पर कोई फैसला लिया जाएगा. हालांकि, सागर और बालाघाट जैसे इलाकों में अभी भी धारा 144 लागू है. आपको बता दें कि भिंड में 70 ज्ञात और 3400 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

ग्वालियर में बंद के दौरान भी हिंसा का मामला सामने आया था. इलाके में कर्फ्यू जारी रहेगा लेकिन सुबह 2 घंटे की छूट मिलेगी. कर्फ्यू ग्रस्त थाना क्षेत्र के सभी हथियारों के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं. इनकी संख्या करीब 6 हज़ार है. हालांकि, इंटरनेट सेवा बहाल करने के घोषणा की गई है. जिले में अब तक 65 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. इसके अलावा अलग-अलग थानों में अब तक कुल 29 FIR दर्ज हुईं हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने नहीं लिया फैसला वापस

आपको बता दें कि SC/ST एक्ट में हुए बदलावों के खिलाफ केंद्र सरकार की पुनर्विचार याचिका पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले पर रोक लगाने से इनकार दिया. सुप्रीम कोर्ट ने भारत बंद के दौरान हुई हिंसा पर कहा, ‘अदालत के बाहर क्या हो रहा है इससे कोर्ट का कोई लेना देना नहीं है.’

भारत बंद के दौरान हुई थी हिंसा

बता दें कि सोमवार को दलित संगठनों ने SC/ST एक्ट में हुए बदलावों के खिलाफ भारत बंद बुलाया था. इस दौरान देशभर में हिंसक प्रदर्शन हुए थे. इन प्रदर्शनों में 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि हज़ारों-करोड़ रुपए की संपत्ति का नुकसान हुआ था. इस मामले में कई राज्यों की पुलिस ने हज़ारों अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

Loading...

Check Also

मध्य प्रदेश चुनाव 2018 : 2 बार सीएम रहे दिग्विजय सिंह क्यों हैं कांग्रेस की मजबूरी?

मध्य प्रदेश चुनाव 2018 : 2 बार सीएम रहे दिग्विजय सिंह क्यों हैं कांग्रेस की मजबूरी?

 मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के काफी पहले से जिस नेता को कांग्रेस पार्टी लाइमलाइट से बाहर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com