BSF ने दो बांग्लादेशी युवतियों को कराया मुक्त, ब्यूटी पार्लर में काम का दिया था आश्वासन

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में सीमा चौकी, रनघाट में खुफिया सूचना के आधार पर सीमा सुरक्षा बल की एक टुकड़ी ने एक विशेष खोज अभियान में मानव तस्करों से दो बांग्लादेशी युवतियों  को मुक्त कराया।

मंगलवार को मानव तस्करी से संबंधित जानकारी मिलने पर कंपनी कमांडर ने सीमा चौकी, रनघाट,  के जिम्मेवारी के इलाके में एक विशेष टुकड़ी को भेजा। जहां देर रात जवानों को एक मोटरसाइकिल पर आते तीन लोगों की संदिग्ध हरकत दिखाई दी। जिसके बाद  जवानों ने उन्हें रुकने के लिए कहा लेकिन मोटरसाइकिल सवार को वहीं छोड़, पीछे की ओर भागने लगा। पीछा करने पर जवानों ने 2 महिलाओं को पकड़ लिया जबकि मोटरसाइकिल सवार अंधेरे तथा झाड़ियों का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहे।

पकड़ी गई महिलाएं में एक ने अपनी उम्र 24 वर्ष बताई तथा कहा कि वो विधवा है, उसने अपना घर जिला- कोमिला, बांग्लादेश में बताया। जबकी दूसरी महिला ने अपनी उम्र 19 वर्ष तथा घर जिला- नरसिंग्डी, बांग्लादेश में बताया। जब्त किया गया लाल रंग का बजाज पल्सर मोटरसाइकिल मोहम्मद रहमान दफादार, पुत्र- सिकंदर दफादार के नाम पर पंजीकृत हैं। महिलाओं से 6537 एक मोबाइल तथा एक आधार कार्ड भी बरामद किया गया। आधार कार्ड के अनुसार मोटरसाइकिल चालक की पहचान तमीज मंडल पुत्र सिराजुल इस्लाम के तौर पर हुई है।

पूछताछ के दौरान पकड़ी गई युवतियों ने बताया कि दोनों ने गरीबी के कारण भारत में रोजगार के लिये आने की योजना बनाई। उनको उनके नजदीकी रिश्तेदार कल शाम को बांग्लादेश में एक अज्ञात दलाल जो कि बार्डर  के पास रहता है, वो घर लेकर आए। पकड़ी गई महिलाओं ने खुलासा किया कि उन्हें अज्ञात भारतीय दलाल के पास बनगाँव ले जाया जा रहा था और वहां पर उनको ब्यूटी पार्लर में काम करने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन इस मामले में सीमा सुरक्षा बल के मुस्तैद जवानों द्वारा ड्यूटी में दिखाई गई तत्परता के कारण दोनों  बांग्लादेशी युवतियों को मानव तस्करी के जाल में फंसने से पहले मुक्त करा दिया।

मानव तस्करी नेटवर्क के चुंगल से बचाई गई पीडित बांग्लादेशी युवतियों को मेडिकल करवाने के पश्चात , बरामद की गई मोटरसाइकिल,  भारतीय मुद्रा और मोबाइल फोन को पुलिस स्टेशन-बागदाह में आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए सौंप दिया गया है। इस मामले में पुलिस कार्रवाई से मानव तस्करी में लिप्त दलालों के नेटवर्क के ऊपर शिकंजा कसे जाने की पूरी उम्मीद है।

इस संबंध में बीएसएफ अधिकारियों द्वारा, पुलिस महिला सब इंस्पेक्टर रितुश्री रॉय, मानव तस्करी विरोधी इकाई, बनगाँव, को भी सूचित किया गया हैं। सीमा सुरक्षा बल दक्षिण बंगाल सीमांत कोलकाता के नए महा निरीक्षक अश्वनी कुमार सिंह ने जब से कार्यभार संभाला है। उन्होंने मानव तस्करी को रोकने के लिए विशेष कदम उठाए हैं और उसी का यह नतीजा है कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मानव तस्करी के कई मामले पकड़े जा रहे हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button