कर्फ्यू के बीच फिर से आगजनी-तोड़फोड़, 9 उपद्रवी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के कासगंज में कल दो गुटों में हुई झड़प के बाद अब भी तनाव बना हुआ है. पूरे शहर में कल से धारा 144 लागू है, लेकिन हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. कर्फ्यू लगाने और भारी सुरक्षा बलों की तैनाती के बावजूद शनिवार की सुबह दोबारा हिंसा भड़क उठी. पुलिस ने कानून अपने हाथ में लेने वाले उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए चार नामजद आरोपियों और दो अन्य को गिरफ्तार कर लिया है.

कर्फ्यू के बीच फिर से आगजनी-तोड़फोड़, 9 उपद्रवी गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, अब तक कासगंज हिंसा मामले में कुल 9 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. हिंसा में शुक्रवार को दम तोड़ने वाले युवक चंदन गुप्ता के पिता द्वारा जिन लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है, उनमें से भी तीन लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं. उपद्रवियों में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गठित की गई है.

इस बीच इलाके के IG का अजीब बयान आया है. आजतक की टीम मौके पर पहुंच चुकी है और जब आजतक ने इलाके के IG संजीव गुप्ता से दोबारा हिंसा भड़कने के बारे में पूछा तो उनका जबाव था कि ये अराजक तत्व हैं, अराजक तत्व मजा लेने के लिए इस तरह का कार्य कर रहे हैं.

सीएम का युवाओं को बड़ा तोहफा: निकाली 69 हजार प्राइमरी टीचरों की भर्ती, 5 फरवरी तक आवेदन

उपद्रवियों ने की आगजनी

वहीं, मृतक चंदन यादव की अंत्येष्टि के बाद दूसरे दिन उपद्रवियों ने कहर बरपाते हुए कई दुकानों में लूट पाट कर आग के हवाले कर दिया है. साथ ही बसों में भी आग लगाई गई है. मौके पर प्रशासनिक आला अधिकारी मौजूद हैं. पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ा है.

शनिवार की सुबह कर्फ्यू में ढील देने की बात से इनकार करते हुए संजीव गुप्ता ने कहा कि जो भी हिंसा फैलाता मौके पर मिलेगा उसके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई होगी. हालांकि वह यह भी कह गए कि अगर कोई खाली स्थान देखकर छोटी गुमटी में आग लगा देता है तो उसके लिए क्या किया जा सकता है.
गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान भड़की थी हिंसा

हिंसा की शुरुआत शुक्रवार को गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुई थी, जब दो गुट आपस में भिड़ गए थे. भारी सुरक्षा बल की तैनाती के बीच रातभर भारी तो शांति रही, लेकिन शनिवार की सुबह उपद्रवियों ने एकबार फिर तोड़-फोड़ और आगजनी की और दुकानों में लूटपाट की. इस हिंसक झड़प में एक शख्स की मौत हो गई.

मृतक को शहीद का दर्जा देने की मांग

बवाल में मारे गए 16 वर्षीय चंदन गुप्ता के घर मातम पसरा हुआ है. मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. पोस्टमार्टम के बाद शव को तिरंगे में लपेटकर उसके घर लाय़ा गया. इलाके के लोग चंदन गुप्ता को शहीद का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं. मृतक के घरवालों ने साथ ही उसका अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया है. अब इलाके में इस मौत को लेकर भी सियासत शुरू हो चुकी है. इलाके के कई नेता मृतक के घर पहुंच चुके हैं.

PAC की 5 और RAF की 1 कंपनी तैनात

शनिवार को दोबारा हिंसा भड़कने के बाद PAC की 5 कंपनियां और RAF की 1 कंपनी को तैनात कर दिया गया है. हालात का जायजा लेने और स्थिति को नियंत्रित करने के लिए ADG ज़ोन, IG और DIG (रेंज) मौके पर पहुंच चुके हैं. कासगंज के नगर कोतवाली इलाके में दो समुदायों के बीच जमकर झड़प हुई, जिसके बाद बीती रात से ही इलाके में कर्फ्यू जारी है. इलाके में बड़ी संख्या में RAF और PAC के जवान तैनात हैं. स्थिति नियंत्रण में है, हालांकि अभी भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है.

झड़प के दौरान गोलीबारी, आगजनी

एडिशनल DG (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार के अनुसार, यह पूर्व नियोजित हिंसा नहीं थी, जो हुआ अचानक हुआ. वहीं मुख्य सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बताया कि 12 से ज्यादा वाहनों व संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है. पुलिस की भारी मौजूदगी है और हालात तनावपूर्ण हैं. लोगों को एहतियात के तौर पर घरों में रहने के लिए कहा गया है. झड़प के दौरान गोलीबारी की भी खबरें हैं. पुलिस ने कहा कि तीन स्कॉर्पियो एसयूवी, दो मैजिक परिवहन वाहन व एक ट्रक को भी भीड़ द्वारा मथुरा-बरेली राजमार्ग पर निशाना बनाया गया. अनियंत्रित भीड़ ने पेट्रोल पंप के निकट एक गुमटी में आग लगा दी.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button