बुलेट ट्रेन के लिए भूमि अधिग्रहण के तरीकों पर अहमद पटेल ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए किसानों की जमीन का अधिग्रहण करने के तरीकों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने को कहा है।
बुलेट ट्रेन के लिए भूमि अधिग्रहण के तरीकों पर अहमद पटेल ने PM मोदी सर्कार पर उठाए सवालराज्यसभा सांसद पटेल ने कहा, किसानों के संवैधानिक अधिकारों को ‘ढहाया’ जा रहा है। भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास एवं पुनर्स्थापन अधिनियम, 2013 के तहत जमीन ली जानी चाहिए। न कि इसके आधुनिक स्वरूप के तहत, जिसे गुजरात सरकार ने पास किया है।

पटेल ने पीएम को मंगलवार को भेजे पत्र में कहा, लंबे समय से भूमि पर किसानों एवं खेतिहर मजदूरों के अधिकारों को बड़े और ताकतवर लोगों के हितों के लिए कुचला जा रहा है।

पत्र में कहा गया है, नेशनल हाई स्पीड रेल कार्पोरेशन (एनएचएसआरसी) और जिलों के अधिकारी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए दक्षिण गुजरात के कई जिलों में किसानों से खेती की जमीन का अधिग्रहण करने की प्रक्रिया में हैं। किसानों के प्रतिनिधियों ने भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास और पुनर्स्थापन अधिनियम, 2013 में उचित मुआवजे और पारदर्शिता के अधिकार के तहत नियमों एवं प्रक्रिया का पालन नहीं किया जा रहा है।

पटेल ने कहा, जिनकी जमीन का अधिग्रहण किया जाना है, उनसे सार्वजनिक परामर्श की प्रक्रिया को अधिनियम में दी गई व्यवस्था के विपरीत चलाया जा रहा है।

लोकसभा द्वारा पारित भूमि अधिनियम, 2013 के उलट अधिग्रहण गुजरात विधानसभा द्वारा पास किए गए इसके हल्के संस्करण के तहत हो रहा है। उन्होंने पीएम से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है कि जमीन का अधिग्रहण 2013 के अधिनियम के अनुसार हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी