भारतीय स्टेट बैंक ने ओला और ऊबर की टैक्‍सी को ऋण देने पर लगाया प्रतिबंध

- in कारोबार

मुंबई/नई दिल्ली : देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने ओला और ऊबर की टैक्सी पर ऋण देने पर प्रतिबंध लगा दिया है . दोनों टैक्सी ऐग्रिगेटर्स के ड्राइवरों के बड़ी संख्या में चूककर्ता साबित होने के कारण भारतीय स्टेट बैंक ने यह कदम उठाया है.

भारतीय स्टेट बैंक ने ओला और ऊबर की टैक्‍सी को ऋण देने पर लगाया प्रतिबंध

इस बारे में एसबीआई ने बताया कि ऋण भुगतान चूक होने पर बैंक ने अब तक करीब 300 कारों को सीज किया है. इन मामलों से कैब की बढ़ती संख्या और इनसेंटिव में कमी के कारण ड्राइवरों की कमाई में कमी आने की बात भी सामने आई है. दोनों कंपनियों ने ड्राइवरों को मिलने वाले इनसेंटिव में बड़ी कटौती की है. इस कारण बैंक को इन ऋण पर समय से रकम वापस पाने में कठिनाई आ रही हैं.जबकि भारतीय स्‍टेट बैंक ने कैब्स पर करीब 120 करोड़ रुपए के ऋण जारी किए हैं.

ये भी पढ़े: 1 के नोट की हो सकती है वापसी, छपाई होगी कीमत से ज्यादा!

ऋण वसूली से चिंतित भारतीय स्‍टेट बैंक के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि हमने सावधानी रखते हुए ओला और ऊबर की कारों की दी जाने वाली वित्‍तीय मदद को रोक दिया है. अधिकारी ने खुलासा किया कि कारों पर लोन देने की योजना पर लगी रोक अस्थायी है, क्योंकि हम कुछ समय तक स्थिति पर नजर रखना चाहते हैं. इस मामले में ओला और ऊबर की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. बैंक ने मुंबई, दिल्ली और बेंगलुरु जैसे बड़े बाजारों में इन लोन पर रोक लगा दी है. लेकिन पश्चिम बंगाल, ओडिशा और हैदराबाद जैसे बाजारों में ऋण जारी किए जा रहे हैं.

You may also like

40 करोड़ मजदूरों को मिलेगा सामाजिक सुरक्षा कवर, जल्द सकती है शुरुआत

केंद्र सरकार असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले