हैदराबाद: 6 साल का ये बच्चा एक दिन के लिए बना पुलिस कमिश्नर, ये हैं वजह

- in राष्ट्रीय

हैदराबाद में एक 6 साल के बच्चे की हर ओर चर्चा हो रही है. यह बच्चा एक दिन के लिए राचकोंडा इलाके का पुलिस कमिश्नर बनाया गया. ‘मेक अ विश’ फाउंडेशन के अनुरोध पर राचकोंडा के पुलिस कमिश्नर महेश मुरलीधर भागवत ने इस बच्चे की ख्वाहिश पूरी करने की अनुमति दी. इसके बाद बच्चे के लिए बकायदा पुलिस कमिश्नर की वर्दी बनी. उसे पहनाया गया.

कमिश्नर की तरह ही पुलिस के अधिकारियों ने इस बच्चे का कमिश्नर कार्यालय में बिगुल बजाकर स्वागत किया गया. फिर फूलों का गुलदस्ता देकर उसे इलाके के पुलिस के मुखिया की कुर्सी पर बैठाया गया. पुलिस कमिश्ननर बनने के बाद 6 साल के डी. इशान ने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा चौकस करने के निर्देश दिए. उसने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह शहर में हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगवाएगा, ताकि अपराध कम हों. शहर की कानून-व्यवस्था के बारे में पत्रकारों के सवाल पर इशान ने कहा कि वह चोरों को पकड़कर जेल में बंद करेगा.

ब्लड कैंसर से पीड़ित है इशान
तेलंगाना के मेंडक जिले के कुंचनपल्ली गांव का रहने वाला डी. इशान गंभीर किस्म के ब्लड कैंसर से पीड़ित है. 6 साल के इसान का अभी एमएनजे कैंसर अस्पताल में इलाज चल रहा है. इशान पढ़-लिखकर पुलिस कमिश्नर बनना चाहता है. लेकिन कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से पीड़ित होने के कारण उसकी पढ़ाई-लिखाई ठीक से नहीं हो पा रही है. उसकी इच्छा है कि वह आगे चलकर पुलिस में जाए. उसकी इसी इच्छा को ‘मेक अ विश’ फाउंडेशन ने पूरा करने का बीड़ा उठाया और राचकोंडा के पुलिस कमिश्नर महेश मुरलीधर भागवत से बात की. भागवत ने फाउंडेशन की बात मान ली और बच्चे की ख्वाहिश पूरा करने की अनुमति दे दी. इसके बाद 4 अप्रैल को इशान को एक दिन के पुलिस कमिश्नर बनाया गया. भागवत ने इशान के इलाज के लिए अपनी ओर से 10 हजार रुपए भी दिए हैं. भागवत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह इस बच्चे की स्थिति के बारे में कुछ भी कहने की हालत में नहीं हैं. वह खतरनाक बीमारी से लड़ते हुए जीवन और मौत से जूझ रहा है.

जब शिक्षकों ने किया पर्चा लीक, तो विद्यार्थियों ने किया ये काम

पुलिस की चौकसी बढ़ाने और महिला सुरक्षा की बात
डी. इशान के एक दिन का पुलिस कमिश्नर बनने पर राचकोंडा के गच्ची बावली स्थित कमिश्नर कार्यालय में उत्साह का माहौल था. इशान के आते ही सबसे पहले पुलिस मुख्यालय में उसे बिगुल बजाकर सलामी दी गई. इसके बाद इशान ने पुलिस कमिश्नर महेश मुरलीधर भागवत से मुलाकात की, जिन्होंने उसे कमिश्नर की कुर्सी पर बैठाया और फूलों का गुलदस्ता दिया. इसके बाद किसी कमिश्नर की तरह ही उसने मीडिया से बात की. इस दौरान जब पत्रकारों ने पूछा कि कमिश्नर बनने के बाद वह सबसे पहला काम क्या करेगा, इस पर इशान ने तपाक से कहा वह चोरों को पकड़ेगा और उन्हें जेल में डालेगा. महिला सुरक्षा पर इशान ने कहा कि वह शहर में शी-टीम्स की संख्या को और बढ़ाएगा. साथ ही महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर वह शहर में पुलिस चौकसी को तेज करेगा.

 
 
 

 

You may also like

लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी