होता था गंदा काम, महिलाओं समेत 13 गिरफ्तार

जुबिली न्यूज़ डेस्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बरेली में कॉल सेंटर का नाम लेकर शहर में संचालित ठगी का एक और अड्डा पकड़ा गया है। फोन कॉल कर गिरोह के सदस्य लोगों को सस्ता इंश्योरेंस प्लान समझा कर लोगों को झांसे में लेते थे और इसके बाद प्रीमियम के नाम पर रुपए खाते में जमा करा लेते थे।
ऑनलाइन फर्जी रसीद भेज दी जाती थी। आरोपियों ने दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के केयरटेकर से मोटी रकम हड़प ली थी। उनकी शिकायत पर दिल्ली पुलिस आरोपियों की तलाश करते हुए बरेली तक पहुंची तो गिरोह का भंडाफोड़ हुआ।
ये भी पढ़े: कोरोना : विदेशी पर्यटकों के लिए बंद हुआ इंडोनेशिया का बाली द्वीप
ये भी पढ़े: योगी पर बरसी माया

मामले में संचालक समेत 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें 9 महिला है। पुलिस ने दो लैपटॉप, 25 मोबाइल, 50 सिम और रजिस्टर बरामद किये हैं। बरेली एसएसपी शैलेश के. पांडे के मुताबिक अक्षरधाम मंदिर के केयरटेकर से ठगी करने वाली वालों से पूछताछ में कई चौंकाने वाली जानकारी मिली है।
ये भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट अवमानना केस : प्रशांत भूषण के मामले में सरकार ने क्या कहा?
ये भी पढ़े: भाजपा को क्यों चाहिए अन्ना हजारे का साथ
उनके मुताबिक पीलीभीत के अनिल ने किराए पर एक भवन लेकर कई लड़कियों को 5000 प्रतिमाह की नौकरी पर रखा था। दिखावे के लिए यहां बीमा सेक्टर की नामी कंपनी का कॉल सेंटर संचालित था और उसकी आड़ में ठगी का धंधा चल रहा था।
लड़कियों से लोगों को कॉल कराई जाती थी कि उनकी छह लाख की बीमा पॉलिसी मैच्योर हुई है। भुगतान के लिए आयकर के रूप में करीब 10 फीसदी रकम अपने खाते में मगाई जाती थी। उम्रदराज लोगों से कहा जाता था वो 50000 जमा करेंगे तो यूपी सरकार में मिलने वाली 3000 प्रति माह की पेंशन दी जाएगी।
अपने दावे की पुष्टि के लिए यह लोग अंग्रेजी में लिखी आरबीआई की गाइडलाइन मेल या व्हाट्सएप पर भेजते थे। ठगी के बाद संबंधित नंबरों को बंद किया गया जाता था और नया सिम इस्तेमाल किया जाता था। अक्षरधाम मंदिर के केयरटेकर को भी इन लोगों ने आरबीआई की गाइडलाइन भेजकर ही झांसे में लिया था।
ये भी पढ़े: प्रियंका ने जारी किया आपराधिक घटनाओं का ग्राफ, योगी सरकार पर साधा निशाना
ये भी पढ़े: थरूर के डिनर पार्टी में सोनिया को पत्र लिखने के लिए बनी थी भूमिका
एसएसपी के मुताबिक 25 जुलाई को दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के केयरटेकर मंडावली निवासी ज्योतिदर मुकुंदराय के पास फोन काल आयीं, कॉलर ने कहा कि वह इंश्योरेंस कंपनी से बोल रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने पेंशन योजना चलाई है जिसके तहत उम्र भर 3000 प्रतिमाह पेंशन मिलेगी जिससे वे झांसे में आ गए। जिसके बाद प्रीमियम के नाम पर कई टुकड़ों में उनसे 138000 रुपये ऐंठ लिए। इसके बाद फर्जी रसीद भेज दी।
बीमा कंपनी में काम करने वाले उनके रिश्तेदार ने रसीद देखी तो बताया कि यह फर्जी है। तब उन्होंने दिल्ली के थाना मंडावली में मुकदमा दर्ज कराया। एक महीने तक काल आते रहे 1 मुकदमा दर्ज करने के बाद दिल्ली पुलिस जांच में लगी थी कॉल डिटेल निकलवाई तो पता चला कि फोन नंबर बरेली के हैं।
सोमवार को दिल्ली पुलिस की टीम बरेली पहुंची और थाना बारादरी व सर्विलांस के जरिये से उन नंबरों की लोकेशन ईसाईयों की पुलिया के पास खान मार्केट में मिली। देर शाम पुलिस ने खान मार्केट में छापामारी की तो पता चला कि एक कॉल सेंटर बना लिया था ओर वहीं से फोन किए जाते थे।
ये भी पढ़े: कांग्रेस : लैटर बम फोड़ने वाले नेता क्या अब चुप बैठ जाएंगे?
ये भी पढ़े: पत्रकार हत्या मामलें में तीन गिरफ्तार, प्रभारी निरीक्षक सस्पेंड

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button