हिंदी को विश्व-ग्राम की भाषा बनाने के लिए संकल्पित होने की जरूरत : CM योगी

हिंदी सनातन संस्कृति को प्रभावित करने वाली हमारी अभिव्यक्ति -दीक्षित
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य नेताओं ने हिंदी दिवस पर सभी भारतीयों को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने सोमवार को ट्वीट किया कि सरस और सर्व समावेशी भावनाओं से सुवासित, भारतीय जीवन मूल्यों, संस्कृति एवं संस्कारों की संवाहक और परिचायक, प्राचीन सभ्‍यता व आधुनिक प्रगति के मध्य सेतु स्वरूपिणी ‘राजभाषा हिंदी दिवस’ की सभी भारतीयों को बधाई-शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि आइए, हिंदी को विश्व-ग्राम की भाषा बनाने के लिए संकल्पित हों।
उप्र विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि हिंदी केवल एक भाषा नहीं है बल्कि यह सनातन संस्कृति को प्रभावित करने वाली हमारी अभिव्यक्ति है। हिंदी राजभाषा है, हिंदी मातृभाषा है, हिंदी हमारे जीवन के प्राणों का स्पंदन है और हिंदी भारत के अंतर्मन का संगीत भी है। उन्होंने कहा कि 14 सितम्बर के दिन संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा घोषित किया था। उस समय कहा गया कि हिंदी राजभाषा तो रहेगी। लेकिन, 15 साल तक अंग्रेजी में कामकाज करने की छूट दी गई। तय किया गया था कि इस बीच में हम धीरे-धीरे अंग्रेजी से मुक्ति पा जाएंगे और और हिंदी अपने संपूर्ण रूप में भारत की राजभाषा के रूप में आगे बढ़ेगी। लेकिन, ऐसा नहीं हो पाया। कई कठिनाइयां आई इस बीच हिंदी अपने दम पर, अपनी सरलता के दम पर, भारतीय संस्कृति की संवाहक और धारक होने के दम पर लगातार बढ़ती गई और हिंदी का प्रभाव क्षेत्र पंख फैलाकर उड़ा। आज पूरे देश में और दुनिया के अन्य देशों में भी हिंदीभाषी हैं। हम सब का कर्तव्य है कि हिंदी को उसके उचित आसन तक ले जाएं। हिंदी को उसका उचित सम्मान दिलाएं। उन्होंने कहा कि हिंदी दिवस के अवसर पर आओ पढ़ें और पढ़ायें, हिंदी है हमारी भाषा, आओ इसे अपनाएं। सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट किया कि समस्त हिंदी प्रेमी, हिंदी सेवी साहित्यकारों, भाषाविदों, लेखकों एवं शिक्षकों को हिंदी दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। आइए हम सब अपने लेखन एवं वार्तालाप में अपनी मातृभाषा का अधिक से अधिक प्रयोग करें। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने ट्वीट किया कि हिंदी दिवस की सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। हिंदी सिर्फ एक भाषा ही नहीं बल्कि भावनाओं का मिलन है। यह हमारे जीवन मूल्यों, संस्कृति एवं संस्कारों की सच्ची संवाहक, संप्रेषक और परिचायक भी है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ट्वीट किया कि एकता ही है देश का बल, जरूरी है हिंदी का संबल। हिन्दी भारतीय संस्कृति की आत्मा है, हिन्दी देश की एकता की एक महत्वपूर्ण कड़ी है। आप सभी को हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

Loading...
loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...