हांगकांग: गिरफ्तार 12 लोकतंत्र समर्थको से छिना गया क़ानूनी हक़, अमेरिका ने जाहिर की चिंता

हांगकांग पर चीन और अमेरिका के बीच विवाद और गहरा सकता है। संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका ने इस बात पर चिंता जाहिर की है कि हांगकांग में गिरफ्तार लोकतंत्र समर्थकों को वकीलों की पहुंच से वंचित किया जा रहा है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि हांगकांग में चीन के राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत गिरफ्तार 12 लोकतंत्र समर्थकों को वकीलों से मिलने से रोक दिया गया। उन्‍होंने कहा इस पर अमेरिका हांगकांग के इस कदम से चिंतित है।
हांगकांग की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लैम पर उठाए सवाल 
उन्‍होंने कहा कि दो सप्‍ताह पूर्व हांगकांग के तट से 12 लोकतंत्र कार्यकर्ताओं को गुआंगडोंग मैरीटाइम पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि हांगकांग में स्थानीय अधिकारियों को अभी तक 12 कार्यकर्ताओं के खिलाफ लगे आरोपों के बारे में कोई जानकारी मुहैया नहीं कराई है। इतना ही नहीं इन कार्यकताओं की पसंद के वकीलों तक पहुंच से वंचित किया जा रहा है। पोम्पिओ ने कहा कि यह कदम  हांगकांग की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लैम की निवासियों के अधिकारों की रक्षा की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाता है।
नए सुरक्षा कानून के तहत 3 जूलाई को पहली गिरफ्तारी 
हांगकांग में चीन का नया कानून आते ही लोकतंत्र समर्थकों पर बर्बरता शुरू हो गई है। विरोध प्रदर्शन के दौरान आजादी के नारे लगाने पर एक नागरिक पर 3 जूलाई को नए सुरक्षा कानून के तहत अलगाववाद और आतंकवाद को उकसाने का आरोप लगाया गया है। वह चीनी कानून का पहला शिकार था। इसके कुछ दिन बाद मार्च में शामिल हुए 370 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था। हांगकांग की सरकार ने स्‍पष्‍ट किया था कि ‘स्वतंत्र हांगकांग’ के नारा गैरकानूनी है। इस दौरान सरकार ने कहा था कि नारा नए कानून के तहत अलगाववाद को दर्शाता है।

Loading...
loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...