सैनिकों के बलिदान पर सवाल न उठाया जाए: अखिलेश

लखनऊ: पुलवामा आतंकी हमला और इसके जवाब में भारतीय सेना की कार्रवाई को लेकर देश में प्रत्येक राजनीतिक दल तरह—तरह की बयानबाजी कर रहे हैं। कोई सेना की शौर्य की गाथा कहते थक नहीं रहा तो कोई सेना से जवाबी कार्रवाई का सबूत मांग रहा है। वहीं, केन्द्र की मोदी सरकार पर पुलवामा घटना के साजिश के आरोप मढ़े जा रहे हैं।
इन्हीं बयानों के बीच शुक्रवार को समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव भारतीय सेना के पक्ष में खड़े नजर आए हैं। जबकि सपा के वरिष्ठ नेता ने पुलवामा हमला को साजिश बताया है। जिसको लेकर देश—प्रदेश की राजनीति में नया मोड़ आ गया। नेता अपने बयानों से भारतीय सेना की बखिया उधेड़ रहे हैं।
सोशल मीडिया ट्विटर पर अपनी राय रखते हुए अखिलेश ने लिखा कि ‘हमारे सशस्त्र बलों के बलिदान पर कभी सवाल नहीं उठाया जाना चाहिए।’ आगे लिखा कि ‘लोकतंत्र में राजनेताओं से प्रश्न पूछना हमारा मौलिक अधिकार है।’ केन्द्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा है कि ‘इस सरकार को भारतीय सेना होने का नाटक करने से रोकने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जो राजनेता कहते हैं कि उनसे सवाल नहीं की जा सकती, वे खतरनाक हैं।
गौरतलब है कि बीते गुरुवार को सैफई में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में सपा के महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने पुलवामा आतंकी हमला को केन्द्र सरकार की साजिश कह दिया। जिसको लेकर पूरे देश में उनके बयान की निंदा होने लगी। वहीं, मुख्यमंत्री योगी ने भी आपत्ति जताते हुए कहा कि प्रो. यादव ने घटिया बयान दिया है, इसके लिए देश से मॉफी मांगनी चाहिए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button