सूर्य की पूजा, निरोगी काया

श्री आदित्‍य हृदय स्‍तोत्रम का पाठ करना है श्रेयस्‍कर : ऊषा त्रिपाठी

ऊषा त्रिपाठी https://www.pranichealingmiracles.com

लखनऊ। काया को निरोगी रखने के लिए सूर्य देवता की पूजा का विशेष महत्‍व है। आजकल कोरोना का साया विश्‍व पर पड़ा हुआ है। ऐसे में अगर सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्‍स घर से बाहर निकलने पर मुख्‍य रूप से मुंह और नाक को ढंकने के लिए चेहरे पर मास्‍क, प्रत्‍येक व्‍यक्ति से दो गज की दूरी और थोड़ी-थोड़ी देर पर हाथों को साबुन-पानी से अथवा सैनिटाइजर से नियमानुसार साफ करते रहने के साथ ही सूर्य को जल देकर श्री आदित्‍य हृदय स्‍तोत्रम का पाठ किया जाना श्रेयस्‍कर होगा। यह कहना है योगिक मानसिक चिकित्‍सा सेवा समिति की संचालिका, समाज सेविका व प्राणिक हीलर ऊषा त्रिपाठी का।

ऊषा त्रिपाठी का कहना है कि श्री आदित्‍य स्‍तोत्रम का पाठ अत्‍यन्‍त फलदायी है। यह पाठ इस प्रकार है-

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button