सीरिया: केमिकल अटैक पर अमेरिका ने दिया सख्त जवाब, सैन्य ठिकानों पर दागीं 60 मिसाइलें

वाशिंगटन। अमेरिका ने सीरिया में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के बाद इस दिशा में कड़ी कार्रवाई करते हुए सीरियाई सैन्यअड्डों पर हवाई हमले करने शुरू कर दिए हैं। अमेरिका ने सीरिया में रासायनिक हमलों के लिए असद सरकार को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है।

अभी-अभी: अमेरिका ने सीरिया पर दागी मिसाइल, दुनिया में बढ़े तेल के दाम

सीरिया: केमिकल अटैक पर अमेरिका ने दिया सख्त जवाब, सैन्य ठिकानों पर दागीं 60 मिसाइलें

ट्रंप ने मार-ए-लागो में संवाददाताओं से कहा, “मैंने आज (गुरुवार) सीरिया के उन सैन्यअड्डों पर हमले का आदेश दिया, जहां से रासायानिक हमले किए गए थे।”  अमेरिका ने सीरिया पर 59 क्रूज मिसाइलें दागी हैं। यह अमेरिका द्वारा बशर अल-असद सरकार पर किया गया पहला सीधा सैन्य हमला है।

अमेरिका ने सीरिया के शहर होम्स के शायरत सैन्यअड्डे पर टॉमहॉक मिसाइलें दागीं। ट्रंप ने पुष्टि करते हुए कहा कि उन्होंने सीरिया में हुए रासायनिक हमलों पर कड़ा रुख अपनाते हुए सीरिया सरकार के खिलाफ एकतरफा सैन्य कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

ट्रंप ने कहा, “अमेरिका के लिए इस तरह के घातक रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को रोकना जरूरी है।” ट्रंप ने ‘सभी सभ्य देशों’ से सीरिया में रक्तपात रोकने की दिशा में काम करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, “इस पर कोई विवाद ही नहीं है कि सीरिया ने प्रतिबंधित रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल कर रासायनिक हथियार कन्वेंशन के तहत नियमों का उल्लंघन किया है और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अपीलों को खारिज किया है।”

ट्रंप ने कहा, “असद के व्यवहार को बदलने के लिए वर्षों के प्रयास बुरी तरह से असफल रहे हैं।” सीएनएन के मुताबिक, अमेरिकी सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि ये हमले सीरिया सैन्यअड्डे के रनवे, विमानों और ईंधन भंडारण ठिकानों को निशाना बनाकर किए गए। ये मिसाइलें पूर्वी भूमध्यसागर से युद्धपोतों के जरिये दागी गईं। रूस ने मिसाइल दागे जाने से कुछ मिनट पहले ही अमेरिका को सीरिया पर सैन्य हमले के ‘नकारात्मक परिणाम भुगतने’ की चेतावनी दी थी।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button