सभी मूल्यांकन केन्द्रों पर लगे रहे ताले, शिक्षकों में रोष

सुलतानपुर,08 मार्च (UjjawalPrabhat.Com)। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक के नेतृत्व में (वित्तविहीन, स्ववित्त पोषित सहित) जनपद सुलतानपुर के सभी शिक्षकों ने हाईस्कूल व इण्टर की बोर्ड की उत्तर-पुस्तिकाओं का कार्य बहिष्कार किया। साथ ही शिक्षकों ने मूल्यांकन केन्द्रों के गेट पर विरोध व्यक्त किया। ज्ञात हो कि वित्तविहीन, तदर्थ शिक्षकों, कम्प्यूटर अनुदेशकों में अपनी समस्याओं को लेकर भारी रोश व्याप्त है। षिक्षकों की मांग है कि राजकीय षिक्षकों की भांति अनुदान प्राप्त माध्यमिक विद्यालय के षिक्षकों को भी समस्त सुविधाओं से आच्छादित किया जाये, पुरानी पेंशन बहाल की जाये, मूल्यांकन की राशि सी.बी.एस.ई. बोर्ड के बराबर की जाय आदि। जी.आई.सी. सुलतानपुर में मूल्यांकन बहिष्कार का नेतृत्व दीपक सिंह, श्यामलाल निषाद, रामकृपाल सिंह। जी.जी.आई.सी. केन्द्र पर डॉ. राजेष सिंह, अजीत पाण्डेय, रमाकान्त सिंह, देवेन्द्र कुमार पाठक, सतीष पाण्डेय, कुँवर साहब सिंह, समर बहादुर सिंह, शैलेष तिवारी। महाराणा प्रताप उतुरी में अशोक कुमार सिंह, हरिद्वार सिंह, श्रीकान्त त्रिपाठी, ज्ञान प्रकाष तिवारी, राजनाथ यादव। तथा नेशनल इण्टर कालेज कादीपुर में अजय बहादुर सिंह, नवीन शर्मा, विवेक सिंह, वीरेन्द्र तिवारी ने आंदोलन का नेतृत्व किया। माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी श्यामलाल निषाद ने बताया कि जब तक शिक्षकों की उपरोक्त मांगां पर सरकार सहानुभूतिपूर्वक विचार नहीं करती, तब तक बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार जारी रहेगा।
रिपोर्ट- अनिल निषाद
 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button