शोध : 21 दिन से नहीं बनेगी बात लगाना होगा 49 दिन का लॉकडाउन

स्पेशल डेस्क
भारत में कोरोना वायरस के मामले रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस वजह से पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है लेकिन अब भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच लॉकडाउन को लेकर एक अध्ययन सामने आ रहा है।
इस शोध में कहा गया है कि अगर कोरोना वायरस को रोकना है तो 21 दिन के लॉकडाउन से बात नहीं बनेगी बल्कि इसे कम से कम 49 दिन करना होगा। हालांकि सरकार इसे केवल 21 दिन तक रखने के पक्ष में है। यह शोध कैंब्रिज विश्वविद्यालय के भारतीय मूल शोधकर्ताओं ने किया है।

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के रिसर्चर्स के अनुसार गणितीय मॉडल के हिसाब से कोरोना को रोकने के लिए 49 दिन का लॉकडाउन सही रह सकता है। इतना ही नहीं कोरोना वायरस को काबू करना है तो भारत में 49 दिनों के लिए पूरी तरह से देशव्यापी लॉकडाउन या दो महीनों में समय-समय पर छूट के साथ निरंतर लॉकडाउन की जरूरत है।
शोध में यह भी कहा गया है कि अगर भारत ऐसा करता है तो कोरोना वायरस को आसानी से काबू किया जा सकता है। रिसर्च में कहा गया है 21 दिन के लॉकडाउन से कोरोना को काबू करना नाकाफी है।
उधर केंद्रीय मंत्रिमंडल सचिव राजीव गौबा ने कहा कि लॉकडाउन को बढ़ाए जाने का हमारा कोई प्लान नहीं है। अब देखना होगा कि इस नये शोध के आने के बाद क्या केंद्र सरकार लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के लिए सोचती है या नहीं।
बता दें कि भारत में अब भी कोरोना का कहर जारी है। सोमवार तक एक हजार से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में है जबकि 30 लोगों की जान भी जा चुकी है। दूसरी ओर यूरोप के देशों में कोरोना वायरस लगातार अपनी जड़े मजबूत कर रहा है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button