शरद पवार के भतीजे के बीजेपी में शामिल होने की खबरों पर पार्टी ने क्या कहा?

जुबिली न्यूज डेस्क
महाराष्ट्र  की सियासत में एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे पार्थ चर्चा में हैं। पहले वह अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई जांच की मांग करने की वजह से चर्चा में आए थे और अब उनके भाजपा में शामिल होने की अटकले लगाई जा रही हैं।
पार्थ पवार के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर परिवार ने चुप्पी साध ली है लेकिन भाजपा ने इस पर सफाई दी है। इस तरह की अटकलों को खारिज करते हुए भाजपा ने कहा कि पार्थ पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं।
ये भी पढ़े : बिहार के डिप्टी सीएम मोदी की बहन ने काटा हंगामा, 2 बोरी चावल…
ये भी पढ़े : कोरोना के चलते न्यूजीलैंड में टला चुनाव
ये भी पढ़े : क्या माही को BCCI नहीं दे सकता था शानदार विदाई

पिछले दिनों पार्थ पवार ने ट्विटर पर सुशांत मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी। जिस पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने पार्थ को फटकार लगाई थी।
पवार ने पार्थ की इस मांग को बचकानी हरकत बताते हुए कहा था कि मुंबई पुलिस मामले की जांच करने में पूरी तरह से सक्षम है। वहीं, भाजपा नेता नारायण राणे ने भी विवाद में कूदते हुए पार्थ पवार की वकालत की थी।
शरद पवार की टिप्पणी पर राणे ने कहा, “पार्थ मैच्योर है, 18 साल से अधिक उम्र का है और मावल लोकसभा चुनाव लड़ता है। हाल ही में, पार्थ ने अयोध्या में राम मंदिर के पक्ष में भी विचार व्यक्त किए और कहा कि यह हिंदू आस्था का “पुनर्स्थापन” और “लंबी कड़वी लड़ाई का अंत” है।
ये भी पढ़े :  कोरोना इफेक्ट : मंदी की तरफ जा रहा जापान
ये भी पढ़े : ‘क्या देश में आज बोलने या लिखने की आजादी बची है?’
ये भी पढ़े : तमाम आपत्तियों के बीच रूस में बनी कोरोना वैक्सीन की पहली खेप

इसके बाद से ही अटकले लगने लगी कि वह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। इस पर भाजपा सांसद बापट ने कहा कि पार्थ अकेला नहीं है जो जय श्री राम कहता है, पूरी दुनिया कहती है।
इस बीच, एनसीपी के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल ने मुंबई में कहा कि पार्टी और पवार परिवार के बीच सब ठीक है। उन्होंने कहा, “शरद पवार बनाम अजीत पवार की लड़ाई सच नहीं है …और यह मुद्दा पवार साहब की टिप्पणी के बाद खत्म हो चुका है।
वहीं सार्वजनिक स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि पवार परिवार एक आदर्श परिवार है और एकजुट है… पवार साहब वरिष्ठतम नेता हैं। कोल्हापुर में पार्थ के मामा विजया पाटिल ने कहा, “पार्थ एक संवेदनशील युवक है, लेकिन मुझे यकीन है कि वह सब कुछ भूल जाएगा। आखिरकार, शरद पवार उनके दादा हैं।
ये भी पढ़े :  ममता बनर्जी से अब क्यों नाराज हुए गर्वनर ?
ये भी पढ़े : योगी सरकार को आप पर क्यों लगाना पड़ा ताला

ऐसी अटकलें थीं कि स्वतंत्रता दिवस पर पूरा पवार परिवार बारामती में मुलाकात करेगा। हालांकि, शरद पवार और उनकी बेटी,  सांसद सुप्रिया सुले, बारामती से दूर रहे। उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और उनके भाई श्रीनिवास पवार पिछले दो दिनों से बारामती में थे।
मालूम हो कि पार्थ को शरद पवार द्वारा फटकारने के बाद, न तो पार्थ और न ही उनके पिता अजीत पवार ने कोई सार्वजनिक बयान दिया है। शरद पवार ने भी कुछ नहीं कहा है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button