वाराणसी: तीन महीने तक बंद रहेगा कैंट, यह है वजह

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में कैंट स्टेशन से अंधरापुल तक के मार्ग को आज से तीन माह तक बंद कर दिया गया है। यानी सोमवार से 31 दिसम्बर तक के लिए ये मार्ग बंद रहेगा। बता दें कि बाहर से आने वालों को सारनाथ, मुगलसराय, कचहरी से घूम कर जाना होगा।
फ्लाईओवर पर स्पाइन बीम का कार्य शुरू:
जिले के चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर पर स्पाइन बीम रखने का कार्य शुरू होने जा रहा है।सुरक्षा को देखते हुए सेतु निगम के निर्देश पर यातयात पुलिस ने तीन माह तक का रुट डायवर्जन जारी कर दिया है।
अब कैंट स्टेशन से कोई भी वाहन तीन महीने तक अंधरापुल की तरफ नहीं जा सकेगा। वहीं अंधरापुल चौराहे से रोडवेज की तरफ अब कोई भारी वाहन नहीं जा सकेंगे।
यातायात विभाग ने अंधरापुल-लहरतारा तक घोषित किया ‘नो स्टॉपिंग जोन’ 
एसपी यातयात सुरेश चंद्र रावत ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम लिमिटेड के मुख्य परियोजना प्रबंधक ने चैकाघाट-लहरतारा मार्ग पर निर्माणाधीन 4 लेन उपरिगामी सेतु के सम्बन्ध में पी.एस.सी. गर्डर कास्टिंग के लिए स्पान संख्या पी 47 से पी 53 के मध्य कार्य किये जाने के दौरान यातायात डायवर्जन की सेतु मांग की थी।
जिससे कार्य के दौरान सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जनहित में 1 अक्टूबर 2018 की रात्रि से 31 दिसंबर 2018 तक चैकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर निर्माण के कार्य स्थल रोड पर आम जन मानस के आवागमन के लिए यातायात डायवर्जन किया जाने का निर्णय लिया गया है.
डायवर्जन रुट

कैंट स्टेशन से अंधरापुल की तरफ आने वाली लेन हर तरह के वाहनों के लिए प्रतिबंधित रहेगी।
जिन वाहनों को कैण्ट स्टेशन सर्कुलेटिंग एरिया से अंधरापुल की तरफ जाना होगा, वह वाहन रेलवे परिसर बाउंड्री के अंदर की सर्विस रोड से होकर धर्मशाला तिराहा, इंग्लिशिया लाइन तिराहा, मलदहिया, मरीमाई, तेलियाबाग से चैकाघाट होकर जा सकेंगे।
अंधरापुल व रोडवेज की तरफ से कैंट स्टेशन की तरफ भारी वाहन ट्रक, बस, डीसीएम जिनकी ऊॅंचाई 8 फिट से अधिक है, पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा.
इस मार्ग पर 8 फिट से कम ऊॅंचाई के हल्के वाहन आवागमन कर सकेंगे.
इसके मध्य आवागमन के दौरान कोई स्टापिंग जोन नहीं होगा.
सेतु निगम निर्धारित ऊॅंचाई का मजबूत लोहे का हाईट गेज नो स्टापिंग जोन का बार्ड लगवायेगा
ताकि भारी वाहन प्रवेश व आवागमन करने वाले वाहन स्टापिंग न कर सकें।

मरीमाई से अंधरापुल के बीच 3/4 पहिया वाहन पर रोक:

केवल 2 पहिया वाहन आवागमन कर सकेंगे.
3-4 पहिया वाहन अंधरापुल, चैकाघाट, तेलियाबाग होते हुए मरीमाई की तरफ आवागमन कर सकेंगे।
अंधरापुल से मरीमाई की तरफ जाने वाले 3 पहिया व 4 पहिया वाहन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगे.
जिन वाहनों को अंधरापुल से मरीमाई की तरफ जाना है, ऐसे वाहन चैकाघाट से तेलियाबाग होते हुए मरीमाई होकर जा सकेंगे.
तेलियाबाग से मरीमाई होते हुए अंधरापुल की तरफ आने वाले 03 पहिया व 04 पहिया वाहन तेलियाबाग से ही मुड़कर चैकाघाट होते हुए अंधरापुल की तरफ जा सकेगें.

कैंट जाने वाले दो पहिया वाहन के लिए भी रास्ता बदला:

कैंट की तरफ से आने वाले 2 पहिया वाहन कैंट रेलवे स्टेशन के गेट नंबर 3 से होकर कॉलोनी के रास्ते से चैकाघाट की तरफ आ सकेंगे।
जनपद आजमगढ़, गाजीपुर, जौनपुर की तरफ से आने वाली रोडवेज़ की बसें पहले की तरह पुल के नीचे से रोडवेज़ बस स्टेशन तक आवागमन कर सकेंगी।
जनपद चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र, इलाहाबाद, भदोही की तरफ से आने वाली रोडवेज की बसें चाॅंदपुर तक आयेंगी.
वहीं पर सवारी उतार कर वहीं से पुनः सवारी भरकर अपने रास्ते की ओर जा सकेंगी।

 
The post वाराणसी: तीन महीने तक बंद रहेगा कैंट, यह है वजह appeared first on Uttar Pradesh News, UP News ,Hindi News Portal ,यूपी की ताजा खबरें.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button