लोकसभा चुनाव: भाजपा का पहले व दूसरे चरण की 16 सीटों पर मंथन पूरा

भाजपा की कोर कमेटी और चुनाव समिति ने पहले और दूसरे चरण के लिए लोकसभा चुनाव की 16 सीटों पर मंथन पूरा कर लिया है। प्रत्येक सीट पर तीन-तीन नामों के पैनल बनाए गए हैं। जिताऊ चेहरों पर फोकस किया गया है। साथ ही आधा दर्जन स्थानों पर नए चेहरों को उम्मीदवारों की सूची में शामिल किया गया है। कुछ मौजूदा सांसदों को पैनल में जगह नहीं दी गई है। माना जा रहा है कि इनका टिकट कटना तय है।लोकसभा चुनाव: भाजपा का पहले व दूसरे चरण की 16 सीटों पर मंथन पूरा

लखनऊ में भाजपा मुख्यालय पर शुक्रवार शाम से देर रात तक चली बैठक में पहले और दूसरे चरण की 16 सीटों के अलावा अन्य क्षेत्रों की भी उन सीटों पर विचार-विमर्श किया गया, जिन पर बड़े नेताओं को चुनाव लड़ना है या मौजूदा सांसदों पर कोई विवाद नहीं है।

बैठक में भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी जेपी नड्डा, पश्चिम क्षेत्र के सह प्रभारी दुष्यंत गौतम, प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय और महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने 16 सीटों का फीडबैक रखा। पश्चिम में सपा-बसपा और सपा-रालोद गठबंधन के बाद मुस्लिम, दलित, जाटव और यादव गठजोड़ से मुकाबला करने के लिए भाजपा सामाजिक समीकरण के आधार पर नए चेहरों को भी मौका देगी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

गठबंधन पर नजर के साथ-साथ सामाजिक समीकरणों पर भी फोकस
बैठक में सपा-बसपा गठबंधन के घोषित और संभावित उम्मीदवारों के मद्देनजर भाजपा से उतारे जाने वाले मजबूत उम्मीदवारों के बारे में मंथन कर पैनल को अंतिम रूप दिया गया। पैनल बनाने में सामाजिक समीकरण पर भी नजर रखी गई है। बैठक में मिशन 74 को एकमात्र ध्येय मानकर प्रत्याशी तय करने पर सहमति हुई।

पिछड़ों पर फोकस
लोकसभा चुनाव में पिछड़े वर्ग में गैर यादव जातियों को साधने पर बातचीत हुई। पश्चिम और ब्रज से टिकट देने की शुरुआत होगी और काशी क्षेत्र की सीटों तक जारी रहेगी। मौर्य, निषाद, शाक्य, कुर्मी, राजभर, कश्यप जातियों के साथ अति पिछड़े वर्ग के उम्मीदवारों को तवज्जो मिलेगी।

महिलाओं व अनुसूचित जाति के समीकरण पर भी निगाह
भाजपा ने लोकसभा चुनाव में महिलाओं पर भी फोकस किया है। महिलाओं को 2014 की तरह 11 से ज्यादा टिकट दिए जा सकते हैं। कोर कमेटी की बैठक में महिलाओं के बीच पकड़ व पहुंच मजबूत करने के लिए महिला मोर्चा के सम्मेलनों की बात भी तय हुई। हालांकि कुछ महिला सांसदों का टिकट कट सकता है या उनकी सीटें बदली जा सकती हैं।

अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 17 सीटों पर भी बसपा के जाटव वोट बैंक में सेंधमारी के मद्देनजर उम्मीदवारों पर विचार-विमर्श किया गया। बताया जाता है कि सपा और बसपा के कुछ बागियों के नाम भी सूची में शामिल किए गए हैं।

मोदी और शाह की रैलियों से बनाएंगे माहौल
बैठक में उम्मीदवार चयन के साथ पहले और दूसरे चरण के चुनाव प्रचार और चुनाव प्रबंधन पर भी मंथन हुआ। पहले चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैलियों के साथ जातिगत समीकरण के हिसाब से भाजपा नेताओं और मंत्रियों की रैलियां होंगी। ओबीसी, एससी, युवा, महिला और किसान मोर्चा के सम्मेलनों के आयोजन कराने पर भी चर्चा हुई।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button