लालू की दखल के बाद क्या बदलेंगे रघुवंश प्रसाद अपना फैसला ?

जुबिली न्यूज डेस्क
बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के दिग्गज नेता रघुवंश प्रसाद के इस्तीफे से आरजेडी में हड़कंप मच गया। पार्टी के दिग्गज नेता और लालू प्रसाद यादव के दोस्त रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे से लालू यादव की भी चिंता बढ़ गई। पूरी पार्टी डैमेज कंट्रोल में जुट गई। जेल से ही लालू यादव दोस्त को मनाने के लिए पत्र लिखा और पार्टी के नेताओं को मनाने के लिए लगा दिया।
फिलहाल आरजेडी प्रमुख लालू यादव के इस डैमेज कंट्रोल का असर भी नजर आ रहा है। ऐसी संभावना है कि रघुवंश प्रसाद सिंह अपने फैसले से पीछे हट सकते हैं। पार्टी के नेताओं का कहना है कि लालू प्रसाद यादव का पत्र सामने आने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह अपने फैसले से पीछे हट सकते हैं। वो एक या दो दिनों में अपना रुख पूरी तरह से साफ कर देंगे।

Loading...

आरजेडी के दिग्गज नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को इस्तीफा देकर सबको चौका दिया। हालांकि उनके इस फैसले से बहुत आरजेडी के वरिष्ठï नेताओं को हैरानी नहीं हुई, क्योंकि रघुवंश प्रसाद कुछ मुद्दों की वजह से पार्टी से नाराज चल रहे थे। कुछ समय पहले ही रघुवंश प्रसाद सिंह ने आरजेडी के उपाध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से ही उनके आरजेडी छोडऩे की अटकलें लगाई जा रही थीं।
फिलहाल उनके इस्तीफे के बाद से मान-मनौव्वल का दौर जारी है। रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे की खबर सामने आते ही लालू प्रसाद यादव ने मोर्चा संभाला। डैमेज कंट्रोल करने के लिए जेल में बंद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने पहल की और उन्होंने बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को तत्काल रघुवंश प्रसाद सिंह से मुलाकात करने का निर्देश दिया। लालू के निर्देश पर तेजस्वी यादव के अलावा पार्टी के राज्यसभा सांसद मनोज झा रघुवंश प्रसाद सिंह से दिल्ली के एम्स में मुलाकात की है। लालू यादव के मोर्चा संभालने के बाद माना जा रहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह को जल्द ही मना लिया जाएगा।

गुरुवार को ही लालू प्रसाद यादव ने रांची के अस्पताल से ही उन्हीं के अंदाज में एक पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा, ‘प्रिय रघुवंश बाबू आपके द्वारा कथित तौर पर लिखी एक चिट्ठी  मीडिया में चलाई जा रही है, मुझे तो विश्वास ही नहीं होता।’ उन्होंने पत्र में आगे लिखा, ‘अभी मेरा परिवार और पूरा आरजेडी परिवार आपको शीघ्र स्वस्थ होकर अपने बीच देखना चाहता है। चार दशकों में हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक कि पारिवारिक मामलों में मिल बैठकर ही विचार किया है। आप जल्दी स्वस्थ हों, फिर बैठकर बात करेंगे। आप कहीं नहीं जा रहे हैं, समझ लीजिए।’

क्यों नाराज हुए रघुवंश प्रसाद
पार्टी नेताओं के मुताबिक बाहुबली नेता रामा सिंह के आरजेडी में शामिल करने की अटकलों से रघुवंश प्रसाद सिंह खासे नाराज थे। उन्होंने पार्टी में रहते हुए सभी पदों से इस्तीफा देकर रामा सिंह को आरजेडी में शामिल करने का खुलकर विरोध किया और इसके लिए उन्होंने पार्टी आलाकमान को पत्र भी लिखा।
उन्होंने पत्र के जरिए साफ तौर पर कह दिया कि अगर रामा सिंह आरजेडी में शामिल होते हैं तो पार्टी से उनका कोई नाता नहीं रहेगा। इस बीच उनके इस्तीफे की खबर भी सामने आ गई।
रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू यादव के नाम लिखा ये पत्र 
इससे पहले रघुवंश प्रसाद सिंह का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। लालू प्रसाद को हाथ से लिखे एक पत्र में कहा कि, ‘मैं जननायक कर्पूरी ठाकुर की मृत्यु के बाद 32 वर्षों तक आपके पीछे खड़ा रहा लेकिन अब नहीं। पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और आमजन ने बड़ा स्नेह दिया। मुझे क्षमा करें।’
 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...