राजनाथ ने त्रिपुरा के जनजातीय नेताओं को एनआरसी पर चर्चा के लिए बुलाया, क्या हुआ फैसला?

अगरतला। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह चार अक्टूबर को दिल्ली में जनजातीय संगठन आईएनपीटी के नेताओं से मुलाकात कर त्रिपुरा में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (एनआरसी) की उनकी मांग पर चर्चा करेंगे।

आईएनपीटी परामर्श परिषद के चेयरमैन सरोटा रंजन खिसा ने आईएएनएस से कहा, “हमारे आग्रह के बाद, गृहमंत्री ने इंडीजिनस नेशनलिस्ट पार्टी ऑफ त्रिपुरा (आईएनपीटी) के अध्यक्ष बिजॉय कुमार हरेंगखॉल और महासचिव जगदीश देबबर्मा को हमारी मांग पर चर्चा के लिए बुलाया है।”
खिसा ने कहा, “त्रिपुरा की मुख्य विपक्षी पार्टी सर्वोच्च न्यायालय में राज्य में एनआरसी लाने को लेकर जल्द याचिका दाखिल करेगी। हम इस मामले में नवंबर में नई दिल्ली में धरना देंगे।”
यह भी पढ़ें:- गलती से सीख नहीं ले रही सूबे की सरकार, अब संबल योजना के कार्ड पर ‘शिवराज’ की तस्वीर
उन्होंने कहा कि आईएनपीटी ने पिछले महीने त्रिपुरा में एनआरसी की जरूरत को लेकर नई दिल्ली में भारतीय रजिस्ट्रार जनरल व जनगणना आयुक्त को ज्ञापन सौंपा था।
यह भी पढ़ें:- राजनाथ ने बता दी सरकार की ये मंशा, खत्म हो जायेगा देश से नक्सलवाद और आतंकवाद!  
भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार में शामिल जनजातीय दल इंडीजिनस पीपुल्स फ्रंट आफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) भी इस मांग को लेकर सक्रिय है।
देखें वीडियो:-

The post राजनाथ ने त्रिपुरा के जनजातीय नेताओं को एनआरसी पर चर्चा के लिए बुलाया, क्या हुआ फैसला? appeared first on Live Today | Live Online News & Views.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button