रवि शास्त्री बोले- कोरोना के कारण टीम इंडिया को मिला आराम अच्छा है

लखनऊ: COVID-19 महामारी के कारण खेल जगत में ठहराव की स्थिति है. ऐसे हालात में विश्वभर की खेल गतिविधियों को गहरा झटका लगा है. घातक कोरोना वायरस से जंग के बीच टीम इंडिया के खिलाड़ी भी अपने घरों में कैद हैं. इस बीच मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना है कि यह आराम भारतीय टीम के लिए अच्छा है. 57 साल के शास्त्री ने पिछले साल मई में विश्व कप के लिए रवाना होने के बाद से घर पर मुश्किल से 10-11 दिन ही बिताए हैं. कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण अन्य खेलों की तरह क्रिकेट भी प्रभावित हुआ है. कोरोना ने इस साल के खेल कैलेंडर को बिगाड़ दिया है.
शास्त्री ने कहा, ‘यह (रेस्ट) बुरी बात नहीं हो सकती, क्योंकि न्यूजीलैंड दौरे के अंत में खिलाड़ियों की मानसिक थकान, शारीरिक फिटनेस और चोटों को आप नजरअंदाज नहीं कर सकते.’ शास्त्री ने स्काई स्पोर्ट्स पॉडकास्ट के दौरान इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल आथर्टन और नासिर हुसैन के समक्ष अपनी राय रखी. शास्त्री ने कहा, ‘खिलाड़ी समय का उपयोग खुद को फिर से सक्रिय करने के लिए कर सकते हैं, खासकर न्यूजीलैंड दौरे के बाद जहां भारत ने पांच टी 20 इंटरनेशनल, तीन वनडे और दो टेस्ट मैच खेले. उन्होंने कहा, ‘पिछले दस महीनों में हमने लगातार क्रिकेट खेला है.’
कोच शास्त्री ने कहा, ‘मेरे जैसे लोग और कुछ सपोर्ट स्टाफ पिछले साल 23 मई को विश्व कप के लिए इंग्लैंड के लिए रवाना हो गए थे, तब से हमने 10 या 11 दिन ही घर पर बिताए होंगे.’ उन्होंने कहा, ‘कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं, जो तीनों प्रारूपों में मैदान पर उतरे. आप सोच सकते हैं कि उनकी क्या हालत होगी.’ शास्त्री ने कहा, ‘खासकर टी-20 खेलने के बाद टेस्ट क्रिकेट से खुद को जोड़ना और उसके साथ होने वाली सभी यात्राएं… इन पर गौर करिए, क्योंकि हमने काफी यात्रा की. विश्व कप के बाद भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज की यात्रा की, फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लंबी घरेलू सीरीज खेली, जिसके बाद न्यूजीलैंड का पूरा दौरा किया.
कोच ने कहा, ‘कोरोना के कारण लॉकडाउन में घर पर समय बिताना कठिन है, लेकिन खिलाड़ियों के लिए यह स्वागत योग्य है.’ गौरतलब है कि इस समय देश 21 दिनों के लॉकडाउन से गुजर रहा है.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button