म्यांमार ने चीन को दिखाए तेवर, प्रोजेक्ट से खींच रहा हाथ

जुबिली न्यूज़ डेस्क
बीजिंग। चीन की विस्तारवादी नीतियों और साजिशों से दुनिया के कई देश परेशान हैं। हांगकांग, वियतनाम के बाद अब म्यांमार भी चीन के खिलाफ तेवर दिखा रहा है। BRI प्रोजेक्ट के जरिए चीन दुनिया में अपनी धाक बढ़ाना चाहता है।
इसके चलते वो चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड इनीशिएटिव (BRI) परियोजना के कार्यान्वयन में विशेष दिलचस्पी नहीं ले रहा है, जिससे चीन के अधिकारी परेशान हो गए हैं।
रिपोर्ट के अनुसार कि चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलित ब्यूरो के सदस्य और पार्टी के विदेश मामलों के विभाग के निदेशक यांग जीची यूरोप जाते वक्त कुछ समय के लिए म्यांमार की राजधानी में रुके थे।
ये भी पढ़े: कोरोना किट में हुए घोटाले को लेकर CM योगी ने दिए जांच के आदेश
ये भी पढ़े: जानिए कैसा दबाव महसूस कर रही हैं कामकाजी महिलाएं

Loading...

उन्होंने म्यांमार के अधिकारियों से स्पष्ट कहा था कि BRI परियोजना संबंधी मंजूरी देने में तेजी दिखानी चाहिए। म्यांमार के अधिकारियों के साथ अभी तक चीन के निचले स्तर के अधिकारियों की बैठक हो रही थी।
ये भी पढ़े: …खुल सकते हैं उत्‍तर भारतियों के लिए रोजगार के द्वार
ये भी पढ़े: कंगना और ठाकरे की लड़ाई में हुई राज्यपाल की एंट्री
रिपोर्ट के मुताबिक पोलित ब्यूरो के सदस्य के साथ बैठक होने से म्यांमार को भी अपनी बातें चीन के शीर्ष स्तर तक पहुंचाने में मदद मिली। यांग की म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की के साथ बैठक हुई। म्यांमार ने चीन की तरफ से पारदर्शी निवेश की जरूरत पर जोर दिया।
बता दें चीन के कर्ज से दबे कई छोटे देश BRI के इस प्रोजेक्ट को न चाहते हुए भी समर्थन देने को मजबूर हैं। श्रीलंका ने 2017 में अपना हंबनटोटा बंदरगाह 99 साल के लिए चीन को लीज पर कर्ज से छुटकारा पाने के लिए ही दिया था।
इस साल जनवरी में दुनिया भर में बीआरआइ प्रोजेक्ट से जुड़े 3870 अरब डालर के 2,951 निर्माण कार्यों को मंजूरी दी गई थी। लेकिन अब एशिया और अफ्रीका के कई देश इस परियोजना से जुड़े काम कराने में असमर्थता जता रहे क्योंकि वे इस पर लिए गए कर्ज का ब्याज चुकाने की स्थिति में ही नहीं हैं।
ये भी पढ़े: भगवान राम के खाते से निकाल लिए छह लाख रुपये
ये भी पढ़े: भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर क्‍यों उठ रहे हैं सवाल

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...