मेरठ में बिहार,दिल्ली और नेपाल के 14 लोगों को पकड़ा

मेरठ। जिले के थाना परतापुर के गांव काशी में निजामुददीन में जमात से आए बिहार, दिल्ली और नेपाल के 14 लोगों केा पुलिस ने एक घर के भीतर से पकड़ा है। ये लोग घर में भीतर बंद थे। इतने लोगों के मिलने से जिले में हडक़ंप मच गया है। सभी को एक ही मकान में क्वारेटाइन कर दिया गया है। जहां देश और विदेश में कोरोनावायरस ने कोहराम मचा रखा है वही दिल्ली के निजामुद्दीन तबलीगी जमात मरकज जलसे की घटना ने भी देश को हिला कर रख दिया है। जमात से लौटे तेलगाना के 6 लोगों की कोरोनावायरस के चलते मौत हो गई और बाकी जलसे में पहुंचे जमाती बिना बताए इधर-उधर छुपने लगे। कोरोना वायरस की चेन को तोडऩे के लिए जब पुलिस ने छानबीन की तो परतापुर के काशी गांव के एक बंद मकान में महाराष्ट्र,नेपाल, बिहार और दिल्ली के 14 जमाती छुपे हुए मिले। ये लोग दिल्ली के निजामुद्दीन जमाती जलसे में शामिल थे। जानकारी मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई और परतापुर पुलिस ने सभी जमातियों को एक जगह बंद कर दिया। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ पहुंचकर चिकित्सकों ने सभी जमातियों का चिकित्सा परीक्षण कराया। सभी 14 जमातियों के जांच के सैंपल भेज दिए हैं। एसओ परतापुर ने बताया कि आनंद प्रकाश मिश्रा ने बताया कि इन सभी 14 जमातियों को उसी मकान में 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। सभी जमातिओं को छुपाने वाले मकान मालिक के खिलाफ मुकदमे की तैयारी शुरू कर दी है। वहीं सूत्रों की मानें तो कई दिन से काशी गांव में छुपे महाराष्ट्र,नेपाल दिल्ली और बिहार के जमाती ग्रामीणों से भी मिले। अगर ऐसे में कोई जमाती कोरोना वायरस से पॉजिटिव निकला तो पूरे गांव आफत में पड़ जाएंगा। स्वास्थ्य विभाग ने अपनी एक टीम पूरे गांव को सैनिटाइज करने के लिए भेजी है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button