मुग़ल हमारे नायक नहीं तो फिर उनके नाम पर म्यूजियम क्यों

जुबिली न्यूज़ डेस्क
लखनऊ. नाम बदलने के क्रम में अब आगरा के मुग़ल म्यूजियम का नम्बर है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका नाम छत्रपति शिवाजी के नाम पर रखने का आदेश दिया है. सीएम योगी ने कहा कि हमारे नायक मुग़ल नहीं शिवाजी महाराज हैं.

Loading...

 
वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आगरा में निर्माणाधीन मुग़ल म्यूजियम का नाम छत्रपति शिवाजी के नाम पर रखने के साथ ही इस म्यूजियम में शिवाजी महाराज से संबंधित चीज़ों को भी रखा जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों को छोड़कर राष्ट्र के प्रति गौरव का बोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा दिया जाए.
यह भी पढ़ें : सलमान खान फिर मुश्किल में 28 सितम्बर को कोर्ट में तलब
यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण से आखिर वसूल ही लिया एक रुपया
यह भी पढ़ें : बुझ गया अवध के आख़री बादशाह के घर का चिराग
यह भी पढ़ें : राजस्थान सरकार ने रोका पिंक पत्थरों का खदान, इसी से बनना है राम मन्दिर
आगरा में ताजमहल के पास 140 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे मुग़ल म्यूजियम का नाम छत्रपति शिवाजी म्यूजियम होगा और इसमें मुग़ल दौर के वैभव के साथ ही शिवाजी के वैभव को दर्शाने वाली वस्तुओं का प्रदर्शन भी किया जाएगा. मुख्यमंत्री की बैठक के बाद प्रमुख सचिव पर्यटन जितेन्द्र कुमार ने आगरा के पर्यटन अधिकारियों को निर्देशित कर दिया है कि निर्माणाधीन म्यूजियम में छत्रपति शिवाजी के लिए एक गैलरी का निर्माण भी कर दिया जाए. इस गैलरी में शिवाजी से सम्बंधित दस्तावेज़ प्रदर्शित किये जाएँ.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...