मुख्यमंत्री योगी ने कोषागारों-बैंकों में रामनवमी पर अवकाश किया निरस्त

 
लखनऊ। लॉकडाउन के मद्देनजर श्रमिकों और विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों की जरूरतें पूरी करने के लिए उनके बैंक खातों में धनराशि भेजने के कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामनवमी पर कोषागारों और बैंकों में घोषित अवकाश निरस्त कर दिया है।
प्रमुख सचिव समान्य प्रशासन जितेन्द्र कुमार की ओर से जारी इस आदेश में कहा गया है कि राज्य सरकार किसानों एवं गरीब लाभार्थियों के बैंक खातों में लाभांश की धनराशि डीबीटी के जरिए स्थानान्तरित कर रही है। ऐसी स्थिति में प्रदेश के सभी कोषागारों के साथ-साथ शासकीय कार्य करने वाली सभी बैंक शाखाओं के लिए 02 अप्रैल को घोषित अवकाश निरस्त करने का निर्णय किया गया है।
इसलिए इस तारीख को कोषागारों के साथ-साथ प्रदेश में सरकारी काम करने वाली सभी बैंक शाखायें सामान्य दिनों की तरह खुल रहेंगी। इस सम्बन्ध में सभी जिलाधिकारियों और सम्बन्धित अफसरों को निर्देश जारी किए जा चुके हैं। दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार लॉकडाउन के मद्देनजर गरीबों, जरूरतमंदों के लिए भोजन, दवा, पानी की व्यवस्था करने के साथ आर्थिक मदद भी कर रही है।
इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज राज्य में मनरेगा के 27.5 लाख श्रमिकों को 611 करोड़ रुपये उनके खाते में एकमुश्त हस्तांतरण की। योजना की धनराशि श्रमिकों को सीधे उनके बैंक के खातों में भेजे जाने से वह इसका जरूरत के मुताबिक तुरन्त इस्तेमाल कर सकेंगे।
मुख्य महाप्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक सलोनी नारायण ने कहा है कि बैंक की शाखाएं दो घंटे के लिए केवल 12 बजे तक संचालित हो रही थीं, लेकिन इस दौरान इन सभी श्रमिकों व अन्य लोगों की समस्या को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखते हुए निर्णय किया गया है कि इस समय बैंक की शाखाएं चार बजे तक खुलेंगी और उन सभी श्रमिकों को अपनी सेवाएं प्रदान करेंगी।
 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनथ ने कहा कि वास्तव में यह मानवीय संवेदना का वह पक्ष है जिसको लेकर बैंक के सभी अधिकारी और कर्मचारी पूरी तन्मयता के साथ इस महामारी के खिलाफ देश की इस लड़ाई को जीतने के लिए आगे बढ़कर युद्धस्तर पर कार्य कर रहे हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button