मासूम को खून देकर युवक ने बचाई जान, परिजनों के चेहरे पर आई मुस्कान

हमीरपुर। सदर अस्पताल में भर्ती एक मासूम की जान एक रक्तदाता के कारण बच गयी। बच्चे की जान बचाने के लिये युवक 50 किमी का सफर तय कर अस्पताल आया और एक यूनिट खून दान कर दिया। मासूम  के परिजनों ने युवक के इस जज्बे को सलाम किया है।

सुमेरपुर कस्बे के नयी बस्ती मुहाल निवासी राहुल सोनकर का पुत्र अंकित (1) थैलेसीनिया रोग से पीड़ित था। इसे सदर अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था। डाक्टरों ने तत्काल ओ पाजिटिव खून की डिमांड रखी लेकिन ब्लड बैंक में इस ग्रुप का खून नहीं था। सोशल मीडिया में मासूम को बचाने की मुहिम शुरू की गयी। बुन्देलखंड ब्लड बैंक समिति के जिलाध्यक्ष अशोक निषाद गुरु ने मासूम के जीवन को बचाने के लिये रक्तदाताओं से सम्पर्क किया। आखिरकार ओ पाजिटिव खून देने वाले नारायन को तैयार किया गया। नारायन पचास किमी दूर मुसाईपुर मुहान कानपुर देहात में रहता है। इसने बच्चे का जीवन संकट में होने की खबर पाते ही सदर अस्पताल आया और एक यूनिट खून दान किया।
बैंक समिति के जिलाध्यक्ष ने बताया कि इस मासूम को थैलेसीमिया नामक बीमारी है। शरीर में खून बनाने वाली थैली में विकार आ जाने के कारण हर महीने खून की कमी से इस मासूम को जूझना पड़ता है। फिलहाल एक यूनिट खून मिलने के बाद इस हालत सुधर गयी है। बच्चे के  गरीब माता पिता ने खून देेने वाले नारायन के जज्बे को सलाम किया है। समिति ने बताया कि इससे पहले सरसई गांव के भाजपा कार्यकर्ता मोहन कुशवाहा ने अस्पताल में भर्ती एक मरीज को एक यूनिट खून दिया था। उन्होंने बताया कि खून की कमी से अब किसी मरीज का जीवन संकट में नहीं पड़ेगा क्योंकि ऐसे लोगों की मदद करने के लिये यह समिति बनायी गयी है।
The post मासूम को खून देकर युवक ने बचाई जान, परिजनों के चेहरे पर आई मुस्कान appeared first on Vishwavarta | Hindi News Paper & E-Paper.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button