स्टेट बैंक को किसने चुकाया,माल्या के बकाए का 900 करोड़

vijay_mallya_pic_20_05_2016मुंबई। देश के कई बैंकों का हजारों करोड़ लेकर भागे उद्योगपति विजय माल्या की तरफ से क्या किसी ने 900 करोड़ रुपये स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को चुका दिए हैं। एसबीआइकैप ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड के ताजा नोटिस को लेकर यह सवाल उठ खड़ा हुआ है। कर्ज की बाबत गुरुवार को जारी नोटिस में बैंक की इस कंपनी ने माल्या पर बकाए की रकम 6,027 करोड़ रुपये दर्शाया है।

उसने माल्या के गोवा स्थित किंगफिशर विला पर कब्जा करते हुए यह नोटिस जारी कर चस्पा किया है। जबकि एसबीआइकैप द्वारा इससे पहले 29 मार्च को जारी नोटिस में भगोड़े उद्योगपति पर बकाए की रकम 6,963 करोड़ दिखाया गया है। एसबीआइकैप ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड माल्या को कर्ज देने वाले बैंकों का एक समूह है। कंपनी की इस ताजा और पहले की नोटिस में अंतर को लेकर बैंक से बार-बार स्पष्टीकरण लेने की कोशिश की गई, लेकिन उसकी ओर से कोई जवाब नहीं आया।

एसबीआइकैप ने बैंकों के बकाया के सिलसिले में माल्या के किंगफिशर विला पर कब्जा कर लिया है। उसने गोवा के कैंडोलिम गांव स्थित 12,350 वर्ग मीटर में फैले इस बंगले के गेट पर चस्पा नोटिस में आम जनता को आगाह किया है कि वे इस संपत्ति को लेकर कोई सौदा नहीं करें। इसी में माल्या पर बकाए की राशि को 6,027 करोड़ दिखाया गया है। विला की कीमत को 90 करोड़ रुपये से अधिक आंका गया है।

एसबीआइकैप की ओर से फरवरी में मुंबई के विले पार्ले स्थित किंगफिशर हाउस की बिक्री के लिए जारी एक अन्य नोटिस में भी फरार उद्योगपति पर कर्जे की रकम को 6,963 करोड़ रुपये ही दिखाया गया था। हालांकि इस संपत्ति को खरीदने के लिए कोई भी खरीदार सामने नहीं आया।

खबरों के मुताबिक 31 जनवरी, 2014 तक विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 6,963 करोड़ रुपये बकाया दिखाया गया था। इसमें से स्टेट बैंक का सबसे ज्यादा 1,600 करोड़ रुपये का कर्ज भी शामिल है। इसके अलावा पंजाब नेशनल बैंक और आईडीबीआई बैंक के भी 800-800 करोड़ रुपये बाकी हैं।

इसी कड़ी में बैंक ऑफ इंडिया और बैंक ऑफ बड़ौदा का भी माल्या पर क्रमशः 650 करोड़ और 550 करोड़ रुपया बकाया है। जबकि सेंट्रल बैंक और यूको बैंक को उद्योगपति से 410 करोड़ और 320 करोड़ रुपये वसूलने हैं। कारपोरेशन बैंक का भी 310 करोड़ रुपया फंसा हुआ है। कर्ज देने वाले अन्य बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, इंडियन ओवरसीज बैंक, फेडरल बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक और एक्सिस बैंक भी शामिल है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button