मां ने नहीं की बेटी की मदद, सास ने ऐसे बचाई बहू की जान

सास-बहू के रिश्ते में हमेशा से अनबन की खबरें देखने-सुनने को मिलती हैं, लेकिन राजस्थान में हुई ये घटना इस रिश्ते का एक अलग ही पहलू बयान करती है। ये कहानी बताती है कि वाकई एक सास बहू की मां बन सकती है। राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक सास ने बहू को अपनी किडनी देकर उसकी जान बचाई। सास के किडनी दान में देने से ही बहू की जान बच पाई और आज वो जिंदा है। राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक सास ने बहू की जान बचाई। बाड़मेर के गांधीनगर की रहने वाली सोनिका की दोनों किडनियां खराब हो गई थीं।

किडनी खराब होने पर डॉक्टर ने कहा कि उन्हें रिप्लेस करना पड़ेगा, नहीं तो सोनिका की जान पर बन आएगी। सोनिका की किडनी रिप्लेसमेंट के लिए परिवार ने डोनर की तलाश की, लेकिन काफी ढूंढने के बाद भी उन्हें डोनर नहीं मिला। जब कहीं से उम्मीद नहीं दिखी तो सोनिका ने किडनी के लिए अपनी मां से कहा, लेकिन उनकी मां ने इससे इनकार कर दिया। मां के किडनी देने से इनकार करने पर सोनिका को लगा कि अब वो नहीं बच पाएंगी। उन्हें किसी तरफ से उम्मीद की कोई किरण नहीं दिख रही थी। जब वो सभी उम्मीद हार बैठी थीं तभी उनकी सास गेनी देवी ने आकर उन्हें जीवनदान दिया। उनकी सास ने सोनिका से कहा कि वो चिंता न करें। वो जिंदा हैं और अपनी किडनी देकर सोनिका की जान बचाएंगी।

सोनिका की सास जब किडनी देने के लिए तैयार हुई तो मेडिकल टेस्ट शुरू किए गए। उनकी 60 वर्षीय सास का ब्लड ग्रुप भी सोनिका से मैच कर गया और फिर किडनी ट्रांसप्लांट किया गया। सोनिका का ऑपरेशन 13 सितंबर को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में किया गया। वो अब पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं। सास के जीवनदान देने से सोनिया अब जन्मों-जन्मों के लिए उनका साथ मांग रही हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button