भारतीय संस्कृति ही दुनिया में सर्वश्रेष्ठ-डा. एके सिंह

वार्षिकोत्सव का हुआ भव्य आयोजन

सुलतानपुर,11 मार्च (UjjawalPrabhat.Com)। भारतीय संस्कृति ही दुनिया की सर्वश्रेष्ठ संस्कृति है जो विद्यालय में प्र्रस्तुत प्रत्येक कार्यक्रम में परिलक्षित हो रही है। उपरोक्त उदगार मां सरस्वती देवी इण्टर मीडिएट कालेज के वार्षिकोत्सव में दीप प्रज्जवलन कर बतौर मुख्य अतिथि वरिष्ठ सर्जन डा. एके िंसह ने व्यक्त किये। भारतीय संस्कृति एवं पश्चिमी संस्कृति की तुलना करते हुए उन्होने भारतीय संस्कृति को श्रेष्ठ बताया उन्होने कहा कि विदेशों में उच्च पदों पर आसीन अधिकाधिक लोग भारतीय हैं। उन्होने विद्यालय के प्र्रधानाचार्य सहित आयोजन समिति की सफल आयोजन के लिए प्र्रशंसा की। उन्होने प्र्रधानाचार्य को अपना गुरू भी बताया एवं विद्यालय के प्रगति के बच्चों को आर्शीवाद दिया।
भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य शिवांकात मिश्र ने बच्चों द्वारा प्र्रस्तुत व्यायाम को वर्तमान समय की आवश्यकता बताते हुए कहा कि मां सरस्वती की वन्दना विद्यार्थियों के लिए प्र्रेरणाश्रोत का कार्य करती है। कार्यक्रम को वरिष्ठ समाजसेवी करतार केशव यादव, अंतराष्ट्रीय गायक दीनबन्धु सिंह व पत्रकार नरेन्द्र्र द्विवेदी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में आये सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए विद्यालय के प्र्रबंधक अशोक मिश्र में कहा कि बच्चों को संस्कार के साथ साथ अच्छी शिक्षा प्र्रदान करने के लिए विद्यालय कृत संकल्पित है। विद्यालय में कम्प्यूटर शिक्षा के लिए कम्प्यूटर लगा दिये गये है जिसका उदघाटन अतिथियों द्वारा ही किया गया। विद्यालय के वैष्णवी, श्रद्वा, आस्था, सपना, सुहानी, सिमरन, अंशिका, पलक, गरिमा, अर्चना, तेजस्विनी, शुभी प्रांजल, शिखा, प्रियांशी, कृष्णा, दीपक, आदित्य, आर्यन, हर्षित, अभिषेक, आयुष, अनुराग अंश, घु्रव आदि द्वारा प्र्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम सरस्वती वंदना, गणेश वन्दना, स्वागत गीत, संस्कृत गीत प्रकृत्या सुरम्यम, राधा तेरी चुनरी, कान्हो काटे न तू चुटकी, छलकत हमरी गगरिया, मैया यशोदा, मां तुझे सलाम, मुकुट सिर मोर का, जनम लियो रघुरइया, छम छम नाचे तेरी मोरनी मोहन, भारत माता तेरी निराली शान, पुलवामा गीत, राधा तेरी चुनरी, कान्हा रे, ढोली थारो, बेटी बचाओ बेटी पढाओ के साथ साथ कामेडी नाटक प्रस्तुत कर बच्चों ने खचाखच भरे पंडाल की तालियां बटोरी। कार्यक्रम का सफल संचालन प्रिया मिश्रा तथा धन्यवाद ज्ञापन प्र्रधानाचार्य श्री श्याम नारायण द्विवदी ने दिया। कार्यक्रम में अध्यक्षता श्री विजय कुमार मिश्र ने की। इस मौके पर सुरेश श्रीवास्तव, विनय कुमार, राधेश्याम, सनोज, शत्रुघन, सावित्री, निशा, विजय विद्र्रोही, सत्य प्र्रकाश गुप्ता, कृष्ण कुमार, आयुश, विन्ध्येश्वरी मिश्रा, इन्दुकांत द्विवेदी, रमाशंकर, उमाशंकर, रामशिरोमणि यादव समेत आदि मौजूद रहे।
नीरज तिवारी

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button