भगवान राम के अस्तित्व पर उठाया था सवाल, अब सपा ने लिया बड़ा एक्शन

सपा नेता लोटन राम पद से बर्खास्त, राजपाल कश्यप लेंगे जगह
जुबिली स्पेशल डेस्क
लखनऊ। भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाले सपा नेता लोटन राम निषाद को अब महंगा पड़ा है। उनके इस बयान के बाद सियासत तेज हो गई थी। इसके बाद आनन-फानन में दरअसल समाजवादी पार्टी ने लोटन राम निषाद पर बड़ा एक्शन लेते यूपी समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पद से मुक्त कर दिया है।
दरअसल सपा ने इसलिए एक्शन लिया है क्योंकि उनके बयान से सियासी पारा चढ़ गया था। उधर अखिलेश यादव इन दिनों भगवान परशुराम की मूर्तियों, ब्राह्मणों को लेकर बात कर रहे हैं।
यह भी पढ़ें : अखिलेश की चुप्पी पर शिवपाल ने क्या कहा
यह भी पढ़ें : कर दरें घटने से करदाताओं की संख्या हुई दोगुनी
यह भी पढ़ें : राजस्थान : बसपा को लगा बड़ा झटका

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्री लोटन राम निषाद के स्थान पर डाॅ0 राजपाल कश्यप सदस्य विधान परिषद को उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का …https://t.co/OogvmrY5gM
— Samajwadi Party (@samajwadiparty) August 24, 2020

लोटन राम निषाद का बयान आगे चलकर सपा के लिए परेशानी न बन जाए इसलिए सपा ने उन्हें देर किये बगैर समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने का फैसला किया है। उनकी जगह एमएलसी राजपाल कश्यप को पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है।
इस बारे में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने जानकारी देते हुए कहा कि अखिलेश यादव की स्वीकृति के बाद यूपी समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष को बदला गया है। लोटन राम निषाद की जगह एमएलसी राजपाल कश्यप को पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का अध्यक्ष बनाया गया है।
ये भी पढ़े: 18 दिनों में राम मन्दिर को मिले 60 करोड़ रुपये
ये भी पढ़े: राजस्थान : बसपा को लगा बड़ा झटका
लोटन निषाद ने क्या कहा था
लोटन राम निषादने कहा था, ‘राम थे कि नहीं, राम के अस्तित्व पर भी मैं प्रश्न खड़ा करता हूं। राम एक काल्पनिक पात्र हैं। जैसे फिल्मों की स्टोरी बनाई जाती है, वैसे ही राम एक स्टोरी के एक पात्र हैं। राम का कोई अस्तित्व नहीं है। संविधान भी कह चुका है कि राम कोई थे ही नहीं।
ये भी पढ़े: ‘मिर्जापुर’ का ‘सीजन 2’ इस दिन होगा रिलीज़
ये भी पढ़े: मुुंबई एयरपोर्ट की 74 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी में अडानी ग्रुप
लोटन निषाद ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बने या कृष्ण मंदिर उससे मुझे कोई लेना देना नहीं है। मेरी आस्था उनमें है जिनकी वजह से मुझे सीधा लाभ मिला. बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर, कर्पूरी ठाकुर, महात्मा ज्योतिबा फुले और छत्रपति साहू जी महराज ने पिछड़ा वर्ग को उनका अधिकार दिया। मेरी आस्था इन महापुरुषों में है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button