बैंक में किसान के साथ धोखाधड़ी, हिरासत में आरोपी

बाराबंकी। आर्यावर्त ग्रामीण बैंक शाखा दरियाबाद में एक किसान के किसान क्रेडिट कार्ड से बिना उसकी जानकारी के हजारों रूपये निकाले जाने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित ने आर्यावर्त ग्रामीण बैंक के हेड आफिस में शिकायत कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। दरियाबाद पुलिस पीड़ित की शिकायत पर विमलेश को हिरासत में ले कर पूछताछ कर रही है।

थाना दरियाबाद क्षेत्र के ग्राम इटौरा निवासी मुन्ना रावत पुत्र प्रभू का आरोप है कि आर्यावर्त ग्रामीण बैंक शाखा दरियाबाद के अभिकर्ता विमलेश के माध्यम से उसने अपना किसान क्रेडिट कार्ड उक्त बैंक शाखा में सन 2014 में अपने पिता के साथ संयुक्त रूप से बनवाया था। पीड़ित का आरोप है कि 29 नवम्बर 2014 को विमलेश ने उससे कहा कि तुम्हारा किसान क्रेडिट कार्ड बन गया है। बैक आकर पैसे ले लो। पीड़ित उसी दिन अपने पिता को लेकर आर्यावर्त ग्रामीण बैंक शाखा दरियाबाद पहुंच गया। लेकिन विमलेश ने उससे तथा उसके पिता का अंगूठा लगवाने के बाद दूसरी मंजिल पर स्थित बैंक शाखा से यह कहकर नीचे भेज दिया कि रूपये लेकर आते हैं।

पीड़ित का आरोप है कि वह अपने पिता के साथ नीचे आ गया तो थोड़ी देर बाद विमलेश ने बैंक शाखा से नीचे आकर 35 हजार रुपये दिए और कहा अपनी पासबुक बाद में ले लेना। विमलेश पर भरोसा करके पीड़ित अपने पिता के साथ घर चला गया और विमलेश ने उसके अशिक्षित व सीधे साधे होने का फायदा उठा कर उसके केसीसी खाते से उसकी जानकारी के बगैर लेन देन करते रहे और काफी दिनों तक उसे पासबुक नहीं दी।

पीड़ित का आरोप है कि विमलेश ने 15 मार्च 2019 को उसे बैंक शाखा बुलाया और कहा अंगूठा लगा दो किसान क्रेडिट कार्ड का नवीनीकरण होना है नहीं तो कार्यवाई हो जाएगी। जब वह बैंक शाखा दरियाबाद पहुंचा तो पैरों तले जमीन खिसक गयी, क्योकि उसके खाते से बिना उसकी अनुभूति के लाखो रूपये का लेन-देन हो चुका था और काफी भागदौड़ करके जब उसने स्टेटमेट निकलवाया तो अपने आपको ठगा महसूस किया। विमलेश ने उससे पहले ही दिन रूपये निकालते समय 65 हजार रुपये हडपे थे और उसे मात्र 35 हजार रुपये दिए थे और उसके बाद भी बिना उसकी जानकारी के उसके खाते से लेन देन करके तमाम रूपये हडप लिए। मरता क्या न करता उसकी के सी सी का भी नवीनीकरण कर दिया गया है और ऋण न लेने के बावजूद उसपर ढाई लाख रुपये से अधिक का ऋण हो गया।

पीड़ित का आरोप है कि शिकायत किए जाने के बाद विमलेश उस पर सुलह करने का दबाव बना रहे हैं और पीड़ित तथा उसके सहयोगियों को फर्जी मुकदमे में जेल भिजवा देने की धमकी दे रहे हैं। फिलहाल दरियाबाद पुलिस पीड़ित की शिकायत पर विमलेश को हिरासत में ले कर पूछताछ कर रही थी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button