बृजमोहन ने भूपेश से की तेंदूपत्ता संग्रहकों को दो साल के बोनस लाभांश वितरित करने की मांग

रायपुर 29 जुलाई।भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ के तेंदूपत्ता संग्रहण से जुड़े आदिवासी परिवारों के विभाग के लापरवाही के चलते  समय पर बीमा के नवीनीकरण नही होने उन्हें  दो सालों के  बोनस का वितरण ना होने दो सालों का लाभांश की राशि नहीं मिलने तथा उनके बच्चों को दो सालों से छात्रवृत्ति नहीं दिए जाने के मामले को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है।
श्री अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ में तेंदूपत्ता के कार्य से जुड़े भोले-भाले आदिवासी परिवारों के साथ पिछले 18 महीनों में व्यापक अत्याचार व आर्थिक शोषण हो रहा है। सरकार उनकी हक के चीजों पर लगातार या तो कटौती कर रही है या उन्हें उनके अधिकारों से वंचित कर रही है। शायद वन विभाग व वन विभाग से जुड़े संघों द्वारा आपको भी अंधेरे में रखकर आदिवासियों के शोषण में आपको बराबर का भागीदार बनाया जा रहा है।
उन्होंने पत्र में लिखा है कि प्रदेश के तेंदूपत्ता संग्राहको का बीमा होता था, जिसकी नवीनीकरण की अंतिम तिथि 31.05.2019 थी, किंतु विभाग के द्वारा लापरवाही करते हुए अंतिम तिथि तक बीमा का नवीनीकरण नहीं करवाया गया। जिससे प्रदेश के लाखो-लाख तेंदूपत्ता संग्राहक बीमा से वंचित हो गए ? बीमा का नवीनीकरण अंतिम तिथि को क्यों नहीं कराया गया। विभाग के पास आज तक इस बात का कोई उत्तर नहीं है कि अगर अंतिम तिथि तक नवीनीकरण हो जाता तो बीमा का लाभ छत्तीसगढ़ के संग्राहकों को नियमित मिलता रहता।
तेंदूपत्ता संग्राहकों के बीमा नहीं होने के कारण पिछले दो सत्रो में लगभग 4 हजार से अधिक लोगों का सामान्य या दुर्घटना में निधन हो गया है ऐसे परिवारों के जीवकोपार्जन के लिए बीमा से जो राशि मिलती थी वह अब नहीं मिल रही है। इन लोगों को कहां से मिलेगी ? कौन देगा ? कितना देगा ? इस पर भी विभाग ने रहस्यमयी चुप्पी साध रखी है और पीड़ित हजारो आदिवासी परिवार के आश्रित, सहायता राशि के लिए दर-दर भटक रहे हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button