बिहार : बीजेपी की सहयोगी पार्टी ने भी वर्चुअल चुनाव प्रचार का किया विरोध

जुबिली न्यूज डेस्क
बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दलों का जंग जारी है। जहां कुछ पार्टियां चुनाव टालने की मांग कर रही है तो वहीं कुछ वर्चुअल चुनाव प्रचार का विरोध कर रही है। वर्चुअल चुनाव प्रचार के सपोर्ट में तो बीजेपी की सहयोगी पार्टी भी नहीं है।
बिहार में विपक्षी पार्टियों समेत एनडीए की सहयोगी पार्टी लोजपा ने भी बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए वर्चुअल चुनाव प्रचार का विरोध किया है तो वहीं बीजेपी ने चुनाव आयोग को भेजे अपने फीडबैक में वर्चुअल चुनाव प्रचार के तरीके का समर्थन किया है।
ये भी पढ़े: नागालैंड में उठी अलग झंडे और संविधान की मांग
ये भी पढ़े:  40 फीसदी गैलेंट्री अवार्ड्स पर जम्मू-कश्मीर के जवानों का कब्जा

 
आयोग से अपील करते हुए राजद और सीपीआई (एम) ने सभी को समान अवसर देने के लिए वर्चुअल चुनाव प्रचार का विरोध किया है। अब लोजपा भी यहीं मांग कर रही है।
 
फिलहाल बीजेपी कोरोना महामारी का हवाला देते हुए वर्चुअल चुनाव प्रचार का सर्मथन कर रही है। हालांकि बीजेपी तो बहुत पहले से ही प्रचार में जुट गई है। मालूम हो कि बीजेपी ने बिहार में अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत भी वर्चुअल रैली से ही की थी।
शुक्रवार को चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चंद्रा ने बताया कि चुनाव आयोग को फीडबैक मिल गए हैं और जल्द ही बिहार में चुनाव प्रचार के लिए गाइडलाइंस जारी कर दी जाएगी। सूत्रों के अनुसार, 15 से अधिक पार्टियों ने चुनाव आयोग के फीडबैक दिया है, जिनमें से चार पार्टियों ने ही कोरोना के चलते चुनाव को टालने की बात कही है।

मालूम हो कि लोजपा, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी, नेशनल पीपल्स पार्टी और आम आदमी पार्टी द्वारा कोरोना के चलते चुनाव को टालने की मांग की जा रही थी लेकिन इन पार्टियों ने चुनाव आयोग को दिए अपने फीडबैक में ऐसी कोई मांग नहीं की है।
जनता दल यूनाइटेड ने आयोग से मांग की है कि बिहार में चुनाव एक चरण में कराए जाने चाहिए। कोरोना माहमारी के चलते यह मांग की गई है। बता दें कि बिहार में पिछले विधानसभा चुनाव पांच चरण में हुए थे।
वहीं बीजेपी ने फीडबैक में कहा है कि उम्मीदवारों के चुनाव खर्च की सीमा बढ़ायी जानी चाहिए क्योंकि अब उन्हें मास्क, सैनेटाइजर और पीपीई किट आदि पर भी चुनाव प्रचार के दौरान खर्च करना होगा।
ये भी पढ़े: इक्कीसवीं सदी की चुनौतियों से निपटने में सक्षम है नई शिक्षा नीति
ये भी पढ़े:  मॉरीशस का नीला समुद्र क्यों हुआ काला?
ये भी पढ़े:  अब मध्य प्रदेश पुलिस ढूढ रही है बकरा

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button