बिहार चुनाव : एक बार फिर नीतीश के खिलाफ LJP ने खोला मोर्चा

जुबिली न्यूज डेस्क
पिछले कुछ माह से बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी और नीतीश की पार्टी जेडीयू के बीच सियासी घमासान जारी है। दोनों पार्टियां खुलकर एक दूसरे के खिलाफ मैदान में आ गई हैं। लोजपा लगातार नीतीश सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर उनकी मुश्किलें बढ़ाने का काम कर रही हैं तो वहीं जेडीयू के नेता चिराग पासवान को नसीहत देने में लगे हुए हैं।
लोजपा ने एक बार फिर नीतीश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला है। ताजा मामले में एलजेपी अध्यक्ष चिराग पावसान ने पीएम मोदी को पत्र लिख जेडीयू चीफ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। उन्होंने पत्र में कहा कि बिहार की जनता राज्य सरकार के कामकाज से खुश नहीं है। सरकार विरोधी इस नाराजगी की वजह से विधानसभा चुनाव प्रभावित हो सकते हैं।

Loading...

अपने पत्र में चिराग ने बिहार में कोरोना वायरस महामारी के हालात का भी जिक्र किया है। इसमें आंकड़े को लेकर सरकार पर संशय की बात भी कही गई है। पत्र में उन्होंने राज्य सरकार की कार्यप्रणाली और नौकरशाहों के रवैए को लेकर तीखी टिप्पणी की है।
चिराग ने कहा कि वो संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद मिले फीडबैक को प्रधानमंत्री से साझा कर रहे हैं। हालांकि उनका पत्र सार्वजनिक नहीं हुआ है।
चिराग पासवान का प्रधानमंत्री को लिखा ये पत्र खासा चौंकाता भी है, क्योंकि दो दिन पहले ही उन्होंने कहा कि उन्हें एनडीए के चेहरे के रूप में नीतीश कुमार से कोई परेशानी नहीं है। तब चिराग ने कहा था कि ‘मैं भाजपा द्वारा चुने गए किसी भी टॉम, डिक या हैरी के साथ खुश हूं।’  हालांकि चिराग पासवान द्वारा नीतीश की सार्वजनिक आलोचना को माना जा रहा है कि एलजेपी, जेडीयू प्रमुख के नेतृत्व में चुनाव लडऩे से खुश नहीं है।
ये भी पढ़े :  दिल्ली दंगे : पुलिस पर क्यों उठ रहा सवाल
ये भी पढ़े : कंगना के मुद्दे पर साधु-संत में भी दो फाड़
ये भी पढ़े : अब UPSSF भी कसेगी अपराधियों पर शिंकजा

इधर जन अधिकार पार्टी प्रमुख पप्पू यादव ने भी सीएम नीतीश पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जनता चाहती है कि इस बार सब अलग-अलग चुनाव लड़ें। इस दौरान उन्होंने जेडीयू को भाजपा से अलग चुनाव लडऩे की चुनौती दी।
उन्होंने कहा, ‘अगर हमारी सरकार बनी तो किसानों को मनरेगा में जोड़ेंगे। बिहार की एनडीए सरकार विफल साबित हुई है। गरीबी, रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य में नीतीश सरकार नाकाम साबित हुई है।Ó बिहार में अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं।
ये भी पढ़े : यूपी : सरकारी नौकरी के नियमों में बदलाव का हो रहा विरोध

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...