बड़ी खबर : 25 सांसदों को भी हुआ कोराना

जुबिली स्पेशल डेस्क
कोरोना अब राजनेताओं को भी अपना शिकार बना रहा है। आम आदमी पहले कोरोना की मार झेल रहा है। इतना ही नहीं कोरोना का दायरा लगातार बढ़ रहा है। आलम तो यह है कि कोरोना अब संसद तक जा पहुंचा है। मॉनसून सत्र की शुरुआत सोमवार से हो गई है लेकिन उससे पहले बुरी खबर सामने आ रही है।
दरअसल संसद सत्र शुरू होने से पहले सांसदों का कोरोना टेस्ट कराया गया था। इसके बाद कल पांच सांसद कोरोना की चपेट में आ गए थे लेकिन सोमवार संसद शुरू होने से पहले अब कुल 25 सांसदों के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आ रही है।

Loading...

यह भी पढ़ें : कंगना के मुद्दे पर साधु-संत में भी दो फाड़
यह भी पढ़ें : बुझ गया अवध के आख़री बादशाह के घर का चिराग
जानकारी के मुताबिक बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी, अनंत कुमार हेगड़े, प्रवेश साहिब सिंह समेत लोकसभा के 25 सांसदों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। कोरोना वायरस की वजह से मॉनसून सत्र देरी के साथ हुआ है।
जानकारी के मुताबिक दोनों सदनों की बात की जाये तो 25 सांसदों का कोविड टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। बताया जा रहा है कि इनमें 17 सांसद लोकसभा के और 8 सांसद राज्यसभा के हैं. लोकसभा के संक्रमित सांसदों में 12 बीजेपी, 2 वाईआरएस कांग्रेस और शिवसेना, डीएमके, आरएलपी के एक-एक सांसद हैं।
उधर जानकारी के मुताबिक 17 सांसदों के नाम सामने आ रहे हैं जिनको कोरोना होने की बात सामने आ रही है। कोरोना पॉजिटिव पाए गए दूसरे सांसदों में सुखबीर सिंह, डॉ सुकान्ता मजूमदार, जी माधवी, प्रताप राव जाधव, जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, हनुमान बेनीवाल, विद्युत वरन महतो, प्रदान बरुआ, एन रेडप्पा, सेल्वम जी, प्रताप राव पाटिल, रामशंकर कठेरिया, सत्यपाल सिंह, रोडमल नागर शामिल हैं।
यह भी पढ़ें : तो क्या अभी भी नाराज हैं सचिन पायलट?
यह भी पढ़ें : बुझ गया अवध के आख़री बादशाह के घर का चिराग
यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : सियासत का कंगना और जंगलराज की घंटी
यह भी पढ़ें :  रघुवंश प्रसाद सिंह और लालू यादव के बीच दिल का रिश्ता था
दूसरी ओर सांसद हुमान बेनिवाल ने अपनी रिपोर्ट को लेकर कुछ और कहा है। उनके अनुसार उनकी रिपोर्ट कहीं निगेटिव आ रही है तो कहीं पॉजिटिव। ऐसी स्थिति में कौन सी रिपोर्ट को माने इसको लेकर सवाल है।
मॉनसून सत्र के लिए क्या है नियम
मॉनसून सत्र शुरू होने से पहले सभी सांसदों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। इसके साथ रिपोर्ट निगेटिव आई गई तभी उनको परिसर में आने दिया जाएगा। नियम यह भी है कि उनकी रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पहले की नहीं होनी चाहिए।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...