प्रतिबंध झेल रहे स्मिथ व वार्नर ने दुबई पहुंचकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की हौसलाअफजाई की

गेंद से छेड़छाड़ विवाद के कारण एक साल का प्रतिबंध झेल रहे स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर पाकिस्तान के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज से पहले यहां पहुंचकर ऑस्ट्रेलियाई टीम की हौसलाअफजाई की। स्मिथ और वार्नर पर लगा प्रतिबंध इस महीने के अंत में समाप्त हो रहा है। दोनों खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के 12वें सत्र में भी हिस्सा लेंगे। स्मिथ राजस्थान रॉयल्स, जबकि वार्नर सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलेंगे।
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की आधिकारिक वेबसाइट ने वार्नर के हवाले से लिखा कि ऐसा लगता है कि हम कभी टीम को छोड़कर गए ही नहीं, सभी खिलाडि़यों ने खुली बाहों के साथ हमारा स्वागत किया। हमसे सभी खिलाड़ी गले मिले, यह बहुत अच्छा रहा।
भारत में हुई सीरीज में शानदार जीत दर्ज करने के बाद टीम के अंदर यह माहौल देखकर अच्छा लग रहा है और मैं निश्चित रूप से उन्हें यहां पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हुए देखने के लिए उत्सुक हूं। उम्मीद है कि वे यह सीरीज भी जीतेंगे। इस बीच, स्मिथ ने भी वार्नर की बात को दोहराया।
स्मिथ ने कहा कि टीम में फिलहाल, सकारात्मक ऊर्जा नजर आ रही है। टीम में साथ वापस आकर अच्छा महसूस हो रहा है। उन्होंने हमारा स्वागत किया और हमें ऐसा महसूस हुआ कि हम इस टीम को कभी छोड़कर गए ही नहीं।
स्मिथ की वापसी पर वॉर्न ने जताई खुशी
गेंद से छेड़छाड़ विवाद के कारण प्रतिबंध लगने के बाद क्रिकेट से दूर चल रहे स्टीव स्मिथ आइपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स से जु़ड़ गए हैं। स्मिथ के लिए यह टूर्नामेंट बहुत अहम है। इसमें बेहतर प्रदर्शन के बल पर वह विश्व कप टीम का हिस्सा बनने की कोशिश करेंगे।
प्रतिबंध पूरा करने के बाद स्टीव रविवार को जयपुर में अपनी टीम से जुड़े। स्टीव की वापसी पर टीम के ब्रांड एंबेसडर शेन वॉर्न ने भी खुशी व्यक्त की है। वॉर्न ने कहा कि स्मिथ के अनुभव, जुनून और रनों की भूख का टीम को फायदा मिलेगा।

वॉर्न ने कहा कि वह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं और मुझे यकीन है कि उनमें रनों की भूख कम नहीं हुई होगी। उन्होंने कहा कि उनके टीम में जुड़ने से टीम में संतुलन आएगा। स्मिथ और वार्नर पर प्रतिबंध लगने के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम का प्रदर्शन बेहद नीचे गिर गया है।
उन्होंने कहा कि स्टीव को इससे प्यार है और वह वापसी करने में माहिर हैं। राजस्थान रॉयल्स के एक अन्य खिलाड़ी एश्टन टर्नर टीम से एक अप्रैल तक नहीं जुड़ पाएंगे क्योंकि वह अभी पाकिस्तान के खिलाफ खेल रहे है। टर्नर के बारे में वॉर्न ने कहा कि वह एक हरफनमौला खिलाड़ी हैं, आपने मोहाली में देखा कि वह क्या कर सकते हैं। इन सभी खिलाडि़यों के टीम से जुड़ने के बाद टीम अन्य सभी टीमों को टूर्नामेंट में कड़ी टक्कर देगी।

चोट को पीछे छोड़ अब आगे बढ़ चुका हूं: शॉ
भारत के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का मानना है कि खेल में चोटिल होना आम बात है और अब वह इसे भूलकर आगे बढ़ चुके हैं।

मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल अक्टूबर में अपने पदार्पण टेस्ट में ही शतक जड़ा था। इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भी चुने गए थे। वह टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया गए भी थे लेकिन सीरीज शुरू होने से पहले ही चोटिल हो गए थे। चोटिल होने के बाद वह बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में दो महीने तक रिहैबिलिटेशन से गुजरे थे। चोट से उबरने के बाद वह सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट टूर्नामेंट में भी मुंबई के लिए खेले।
पृथ्वी ने शनिवार को दिल्ली कैपिटल्स के मीडिया डे के दौरान कहा कि चोट के बाद अब मैं सब कुछ भूल गया हूं। खेल में चोटिल होना आम बात है। मैं भी चोटिल हुआ और वह समय मेरे लिए काफी दुर्भाग्यपूर्ण था। लेकिन अब मैं उन सब बातों को भूलकर आगे बढ़ चुका हूं। चोट से उबरने के बाद मैंने टी-20 मैच भी खेला है।

पृथ्वी ने साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि ऑस्ट्रेलियाई दौरे से अनुशासहीनता के कारण नहीं बल्कि टखने की चोट से निर्धारित समय पर उबर नहीं पाने के कारण उन्हें स्वदेश भेजा गया था। उन्होंने कहा कि यह सब केवल अफवाहें हैं। इन बातों पर ध्यान नहीं देना चाहता। चोट के दौरान मैं किस दौर से गुजरा हूं, यह किसी ने नहीं बताया। मैं खेलना चाहता था लेकिन चोटिल हो गया। मुझे लगा कि मैं मेलबर्न में तीसरे टेस्ट में खेल सकता हूं लेकिन चोट से उबरने में मुझे समय लगा। इस कारण मैं ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीसरे टेस्ट में नहीं खेल सका।
पाकिस्तान की अंडर-19 टीम के कोच बनेंगे यूनिस खान

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान यूनिस खान पाकिस्तान की अंडर-19 क्रिकेट टीम के मुख्य कोच बनेंगे। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सूत्रों ने बताया कि इस संबंध में फैसला ले लिया गया है लेकिन कुछ औपचारिकताओं के बाद इसका एलान होगा। भारत के अंडर-19 कोच राहुल द्रविड़ का उदाहरण देते हुए पीसीबी प्रमुख अहसान मनी ने हाल ही में कहा था कि पाकिस्तान को बीसीसीआइ का अनुसरण करके देश के युवा क्रिकेटरों की कमान पूर्व क्रिकेटरों को सौंप देनी चाहिए।
सूत्र ने कहा कि यूनिस को मुख्य कोच के तौर पर पूरे अधिकार दिए जाएंगे। वह जूनियर चयन समिति के मुख्य चयनकर्ता होंगे और एक अन्य टेस्ट क्रिकेटर उनकी सहायता करेंगे। द्रविड़ मौजूदा समय में इंडिया अंडर-19 टीम के कोच होने के साथ-साथ इंडिया-ए टीम के भी मुख्य कोच हैं।

द्रविड़ की कोचिंग में ही पिछले साल अंडर-19 टीम ने न्यूजीलैंड की धरती पर अंडर-19 विश्व कप जीता था। पृथ्वी शॉ, शिवम मावी, मयंक अग्रवाल, हनुमा विहारी, कमलेश नगरकोटी जैसे युवा खिलाडि़यों की प्रतिभा को निखारने में द्रविड़ का अहम योगदान माना जाता है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button