पायलट खेमे को अलग-थलग करने की क्या हो रही है साजिश

जुबिली स्पेशल डेस्क
जयपुर। राजस्थान में कांग्रेस ने भले ही अपनी सरकार किसी तरह से बचा ली हो लेकिन वहां पर अब भी विवाद देखने को मिल रहा है। बीते एक महीने से चला आ रहा सियासी ड्रामा उस दिन से ही खत्म होता नजर आया था जब सचिन पायलट वापस कांग्रेस के पाले में लौट आए थे। इसके बाद से कांग्रेस ने खुद ऐलान किया कि अब सबकुछ ठीक हो गया है लेकिन राजस्थान विधानसभा में शुक्रवार को एक ऐसा नजारा देखने को मिला जिसके बाद हर कोई हैरान है।
दरअसल विधानसभा में सचिन पायलट की सीट बदल दी गई है। इतना ही नहीं सचिन पायलट को विधानसभा में सीट नहीं मिली और उन्हें पीछे गैलरी में कुर्सी लगाकर बैठाया गया है। इसको लेकर विवाद हो सकता है। हालांकि सियासी गलियारों में कहा जा रहा है कि सचिन पायलट के साथ जानबूझकर ऐसा किया गया है ताकि उनको अलग-थलग किया जा सके हैं।
उधर इस पूरे मामले पर पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने अपनी चुप्पी तोड़ी है और कहा है कि आज मैं सदन में आया तो देखा कि मेरी सीट पीछे रखी गई है,  मैं आखिरी कतार में बैठा हूं। मैं राजस्थान से आता है, जो कि पाकिस्तान बॉर्डर पर है. बॉर्डर पर सबसे मजबूत सिपाही तैनात रहता है. मैं जब तक यहां बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है।

मुझे विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया, क्योंकि सीमा पर सबसे ताकतवर योद्धा को भेजा जाता है : सचिन पायलट
ये भी पढ़े :इजराइल-यूएई : 49 साल पुरानी दुश्मनी कैसे हुई खत्म?
ये भी पढ़े :रूस की कोरोना वैक्सीन की भारी मांग, 20 देश कर चुके प्री-बुकिंग
ये भी पढ़े :टीके पर संदेह के बाद भी क्या भारत खरीदेगा रूस की कोरोना वैक्सीन ?
बता दें कि सचिन पायलट को निर्दलीय विधायक के साथ 127 नम्बर की सीट पर बैठाया गया था। सचिन पायलट के साथ ही पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा के भी बैठने की जगह में बदलाव किया गया है। विश्वेंद्र सिंह आखिरी पंक्ति में 14वें नंबर सीट पर बैठे जबकि, रमेश मीणा भी पांचवीं पंक्ति की 54 नंबर सीट पर बैठे हैं। जानकारी के मुताबिक कोरोना की वजह से विधायकों को दूर-दूर बैठाया गया है। इतना ही नहीं विधानसभा में कुछ अतिरिक्त सीटें भी लगाई गईं हैं।

ये भी पढ़े : रूस की कोरोना वैक्सीन पर इस देश के राष्ट्रपति को है पूरा भरोसा
ये भी पढ़े :  कोरोना वैक्सीन पर राहुल की सरकार को ये सलाह
ये भी पढ़े :  कोरोना संक्रमित व्यक्ति की क्यों हो जाती है एकाएक मौत
बता दें कि सचिन पायलट ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से सोमवार को मुलाकात की थी। इसके बाद राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बचती दिख रही है। इससे पहले सचिन पायलट के नाराज होने की वजह से अशोक गहलोत सरकार संकट में पड़ गई थी लेकिन अब सबकुछ ठीक होता दिख रहा है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button