पलायन प्रक्रिया पर लगा ब्रेक

14 दिन आइसोलेशन में रहेंगे पलायन करने वाले
प्रमुख संवाददाता
नई दिल्ली। लॉक डाउन के बाद देश भर में शुरू हुई पलायन प्रक्रिया पर ब्रेक लगाने के लिए सभी स्तरों पर कोशिशें तेज़ हो गई हैं। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों को निर्देश जारी कर दिया है कि एक राज्य से पलायन कर दूसरे राज्य में पैदल पहुँच गए लोगों को 14 दिन तक आइसोलेशन में रखा जाए।
कल दिल्ली के रास्ते उत्तर प्रदेश में पहुँच गए हज़ारों लोगों की वजह से देश भर में उठे सवालों के बाद आज दिल्ली सरकार ने आनंद विहार की तरफ जाने वाले सभी रास्ते सील करते हुए रेल पटरियों पर भी पहरा बिठा दिया है।
ये भी पढ़े: कोरोना LIVE : संक्रमित लोगों का आंकड़ा पहुंचा 1045
 

ये भी पढ़े: घर में बढ़े झगड़े तो पहले पत्नी को उतारा मौत के घाट फिर लगा ली फांसी
महाराष्ट्र सरकार ने अपने राज्य में रह रहे सभी अप्रवासियों को आश्वस्त किया है कि वह महाराष्ट्र छोड़कर कहीं न जाएँ। महाराष्ट्र सरकार उनके हितों का पूरा ध्यान रखेगी। सभी प्रवासी मजदूरों को खाना और पानी उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा महाराष्ट्र में शिव भोजन योजना के तहत मिलने वाले 10 रुपये के भोजन को पांच रुपये का कर दिया है।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बाताया कि प्रवासी मजदूरों को खाना-पानी देने के लिए राज्य में 163 केंद्र बना दिए गए हैं। उनकी रक्षा का ज़िम्मा भी हम लेंगे लेकिन वह ऐसे समय में राज्य छोड़कर कहीं न जाएँ। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए यह ज़रूरी है कि लॉक डाउन का सख्ती से पालन किया जाए।
लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए इस नियम का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। महाराष्ट्र से अपने राज्यों के लिए ट्रकों पर सवार होकर निकले लोगों को आज पुलिस ने रोक लिया है और उन्हें ठहराने का इंतजाम कर दिया गया है।
ये भी पढ़े: चैत में “चैट” से ऊबे दंपति

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button