पति-पत्नी की नोक-झोंक को दूर करती है ‘ची-एनजी’

फेंगशुई गैजेट विंड चाइम्स हवा की तरंगों में बहती ध्वनि ची एनर्जी को एक्टिवेट करती है, जिससे घर में रहने वाले लोगों को सौभाग्य की प्राप्ति होती है. पति-पत्नी में होने वाली नोक-झोंक भी दूर हो जाती है। तो जानते हैं दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने वाले विंड चाइम्स की खसियत…

इस मंदिर में उतारते हैं प्यार का भूत!! कपल्स दूर-दूर तक नहीं…

पति-पत्नी की नोक-झोंक को दूर करती है 'ची-एनजी'

ऐसे करें चयन?

– घर में रहने वाले सभी सदस्यों को विंड चाइम्स की ध्वनि पसंद आनी जरूरी है.

– मेटल से बनी विंड चाइम्स लें, क्योंकि अन्य धातु के मुकाबले मेटल विंड चाइम्स की आवाज में तीव्रता और गहराई होती है, जिससे ची एनर्जी जल्द ही एक्टिवेट हो जाती है.

– लकड़ी और मिट्टी से बनी विंड चाइम्स कुछ खास परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए उपयोगी होती हैं, परंतु बेहतर होगा कि मिट्टी से बनी विंड चाइम से परहेज करें. तेज हवा की गति से यदि ये नीचे गिरकर टूट जाएं, तो समृद्धि की जगह परेशानी उत्पन्न हो सकती हैं.

– विंड चाइम दिशा के तत्व के अनुसार ही लगाना लाभदायक होता है. जैसे-पूर्व और दक्षिण-पूर्व दिशा वृक्ष और लकड़ी से जुड़े हैं, इसलिए इस दिशा में ची एनर्जी को गतिमान करने के लिए वुडन विंड चाइम अधिक प्रभावशाली होते हैं.

– जगह के अनुसार ही विंड चाइम की साइज तय की जानी चाहिए. जैसे-गार्डन में छोटा-सा विंड चाइम लगाने पर उसका प्रभाव भी कम होता है.

– अगर सिर्फ शो के लिए विंड चाइम का इस्तेमाल करना हो, तो इसे किसी ऐसे दरवाजे या खिडक़ी में लटकाएं, जहां से हवा आती हो.

– घर के उत्तर, पश्चिम या उत्तर-पश्चिम में मेटल विंड चाइम लगाने से ची एनर्जी घर के वातावरण को शांत बनाती है.

– 6 छड़ों वाली मेटल विंड चाइम ड्रॉइंग रूम के उत्तर-पश्चिम दिशा के कोने में लगाएं. इससे सौभाग्य में वृद्धि होती है और दुर्भाग्य का प्रभाव कम होता है.

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button