नहीं रहे अवधी कवि मदन मोहन पाण्डेय ‘मनोज’

सोमवार की रात हुआ निधन, दर्जनों पुरस्कारों से नवाजे गए थे
सुलतानपुर। जयसिंहपुर तहसील के बौराजगदीशपुर गांव निवासी अवधी के चर्चित साहित्यकार मदन मोहन पाण्डेय ‘मनोज’ का सोमवार की रात निधन हो गया। वे पिछले सप्ताह से लखनऊ के एक हास्पिटल में पक्षाघात के कारण कोमा में थे।
बेसिक शिक्षा परिषद सुलतानपुर के विभिन्न स्कूलों में शिक्षक और एनपीआरसी रहे कवि मनोज ने दो दर्जन से अधिक कृतियों की रचना की है। आकाशवाणी लखनऊ के विभिन्न कार्यक्रमों में लगातार उनकी कविताएं प्रसारित होती रही हैं। कवि मनोज काव्य मंचो पर अपनी विशिष्ट प्रस्तुति के लिए भी सराहे जाते रहे हैं। अवधी मंच के सचिव व राणा प्रताप स्नातकोत्तर महाविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर ज्ञानेन्द्र विक्रम सिंह ‘रवि’ ने बताया कि ‘उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान द्वारा दिया जाने वाला अवधी भाषा का सर्वोच्च सम्मान ‘मलिक मुहम्मद जायसी सम्मान’ मनोज जी को दो बार मिल चुका है‌।
सन 1989 में उनके अवधी काव्य संग्रह ‘गऊंवा हमार’ पर संस्थान के सभागार में तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने प्रशस्ति पत्र ,सम्मान राशि, अंगवस्त्र आदि देकर व 2015 में अवधी दोहा संग्रह ‘मनोज सतसई’ पर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव ने प्रशस्ति पत्र, सम्मान राशि व अंगवस्त्र आदि देकर सम्मानित किया था। उ.प्र.हिंदी संस्थान से ही 2001 में मनोज जी को उनके खण्डकाव्य ‘कौत्स’ पर सर्जना पुरस्कार मिला था। इसके अलावा देश भर की अनेक चर्चित संस्थाओं से ‘कबीर सम्मान’, अवधी वारिधि सम्मान, ‘अवधी काव्य प्रवीण सम्मान, ‘अवधी रत्न सम्मान, ‘जायसी पंचशती सम्मान ‘ ‘साहित्य मनीषी’ समेत लगभग दो दर्जन सम्मानों व पुरस्कारों से समय समय पर उन्हें सम्मानित किया गया था।
मंगलवार को दियरा घाट पर हुई कवि मनोज की अंत्येष्टि पर वरिष्ठ साहित्यकार आद्या प्रसाद सिंह’प्रदीप’, मथुरा प्रसाद सिंह ‘जटायु’, डॉ .सुशील कुमार पाण्डेय साहित्येंदु, डॉ शिव प्रसाद मिश्र व पवन कुमार सिंह आदि प्रमुख लोग मौजूद रहे। कवि मनोज को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए आशुकवि मथुरा प्रसाद सिंह ‘जटायु’ ने कहा – ‘जगतगुरु रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय चित्रकूट में पिछले वर्ष ‘गोस्वामी तुलसीदास सम्मान’ पाने वाले अवधी साहित्यकार मनोज जी का तुलसी जयंती के दिन प्रयाण करना अद्भुत संयोग है ।’
कवि मदन मोहन पाण्डेय’मनोज’ की प्रमुख रचनाएं –
काव्य संग्रह – गीत गुंजन ,लोक लहर , दारुन दहेज, गउंवा हमार, देसवा हमार, मनोज गीतमाला, मनोज सतसई
महाकाव्य – सरवन, गंगा महिमा
खण्ड काव्य – कौत्स, अग्नि परीक्षा, ध्रुव, आंचल के आंसू
बालगीत संग्रह – नाची झूम झूम कर बिल्ली, हमारा प्यारा हिंदुस्तान।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button