नवरात्रि में इस तरह जलाए अखंड दीपक सारी मनोकामनाएं पूरी होगी

In the Navaratri, burning a continuous lamp of different oil.
धार्मिक ग्रंथों के अनुसार देवी दुर्गा की आराधना के पर्व चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक 9 दिन के होते हैं, परंतु प्रसिद्धि में चैत्र और आश्विन नवरात्रि ही मुख्य माने जाते हैं। इनमें भी देवी भक्त आश्विन नवरात्रि अधिक करते हैं। इनको यथाक्रम वासंती और शारदीय नवरात्रि कहते हैं।
via
शारदीय नवरात्री मे भक्त अनेक प्रकार से माता की उपासना करते है। ऐसे में अखंड दीपक जलाने से आपके घर धन सम्पन्नता आएगी।
via
1.अगर आप वास्तु दोष से परेशान है तो उसे दूर करने के लिए वास्तु दोष वाली जगह पर तिल्ली के तेल का दीपक जलाकर रखना चाहिए।
2.शनि के कुप्रभाव से मुक्ति के लिए नवरात्रि में तिल्ली के तेल की अखंड जोत शुभ मानी जाती है।
3.नवरात्रि में दीपक जलाए रखने से घर-परिवार में सुख-शांति एवं पितृ शांति रहती है।
4.नवरात्रि में घी एवं सरसों के तेल का अखंड दीपक जलाने से त्वरित शुभ कार्य सिद्ध होते हैं।
5.नवरात्रि में विद्यार्थियों को सफलता के लिए घी का दीपक जलाना चाहिए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button