देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट का निधन, कोरोना पॉजिटिव थी

नई दिल्ली। भारत की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट (हृदय रोग विशेषज्ञ) डॉ शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का शनिवार देर रात कोरोना वायरस बीमारी की वजह से निधन हो गया। वह 103 साल की थी और राजधानी के गोविंद बल्लभ पंत अस्पताल में भर्ती थी।

उल्लेखनीय है कि पद्मावती 11 दिन पहले कोरोना वायरस पॉजिटिव पाई गई थीं, जिसके बाद उन्हें नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती कराया गया था। संयोग है कि इस हार्ट इंस्टीट्यूट की स्थापना भी 1981 में उन्होंने ही की थी। वह ऑक्सीजन पर थी। उन्हें वेंटिलेटर पर रखा जाना था, मगर रात में ही उनकी मौत हो गई।
डॉ शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का जन्म म्यांमार (वर्मा) में हुआ था, लेकिन 1945 में जापानी आक्रमण के बाद पद्मावती भारत आ गई थीं। पद्मावती ने एमबीबीएस की डिग्री रंगून मेडिकल कॉलेज से और एफआरसीपी की डिग्री लंदन के रॉयल कॉलेज ऑफ फिजिशियन से प्राप्त की थी। पद्मावती ने वर्ष 1953 में दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में बतौर व्याख्याता अपना करियर शुरू किया था। पद्मावती की ख्याति पूरी दुनिया में थी।
The post देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट का निधन, कोरोना पॉजिटिव थी appeared first on Vishwavarta | Hindi News Paper & E-Paper.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button