दिसंबर तक दुनिया की कितनी आबादी को मिलेगा कोरोना का टीका

जुबिली न्यूज डेस्क
दुनिया के कई देशों में बन रहे कोरोना टीका अपने अंतिम चरण में हैं। ऐसी उम्मीद जतायी जा रही है कि दिसंबर के अंत तक वैक्सीन की 70 से 75 करोड़ खुराक तैयार हो सकती हैं। यह खुराक दुनिया की करीब दस फीसदी आबादी के लिए पर्याप्त होगा।
अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना, जॉनसन एंड जॉनसन, ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका, रूस का गामेलया रिसर्च इंस्टीट्यूट और चीन की सिनोवैक वैक्सीन की दौड़ में शामिल हैं। इन सभी कंपनियों का कहना है कि दिसंबर तक आम लोगों के लिए ये टीका उपलब्ध करा देंगी।
ये भी पढ़े :  बिहार विधानसभा चुनाव : जल्द शुरु होगा पाला बदल का दूसरा दौर
ये भी पढ़े : बाढ़ : इन चार राज्यों के लिए अगले 24 घंटे भारी
ये भी पढ़े :  जीतनराम मांझी से नुकसान की भरपाई कैसे करेगी राजद?

वहीं शुक्रवार को जर्मन कंपनी बायोनटेक के साथ टीका बना रही फाइजर ने भी कहा कि वह टीके के परीक्षण के नतीजे अक्टूबर के अंत तक समीक्षा के लिए नियामक एजेंसी को सौंप सकती है। अगर मंजूरी मिलती है तो दिसंबर तक वह दस करोड़ खुराक भी तैयार कर लेगी।
जानकारों का कहना है कि अक्टूबर के लक्ष्य से फाइजर भी सबसे तेज टीका तैयार कर रही कंपनियों में शुमार हो गई है। फाइजर ने अमेरिका के लिए दस करोड़ खुराक तैयार करने के लिए अमेरिकी सरकार से दो अरब डॉलर का समझौता भी किया है।
सितंबर से होगा जॉनसन एंड जॉनसन का अंतिम परीक्षण
अमेरिकी फॉर्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन के टीके के तीसरे चरण का परीक्षण सितंबर से शुरू होगा। कंपनी 180 जगहों पर 18 साल से ज्यादा उम्र के 60 हजार लोगों पर टीके का ट्रायल करेगी। कंपनी के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. पॉल का कहना  है कि हम निश्चित समय सीमा पर परीक्षण पूरे करेंगे।
रूस भी शुरु करेगा परीक्षण
रूस के गामेलया रिसर्च इंस्टीट्यूट स्पूतनिक वी टीके के तीसरे चरण का परीक्षण 40 हजार वालंटियर पर करेगा। हालांकि उसने पहले ही सितंबर से टीके के उत्पादन का निर्णय कर लिया है। शुरुआती दौर में स्वास्थ्यकर्मियों के बाद जनवरी से आम जनता में टीकाकरण शुरू होगा। संस्थान के उप निदेशक डॉ. डेनिस लोगुनोव ने कहा कि इससे हम टीके की प्रतिरोधी क्षमता का आकलन कर पाएंगे।
ये भी पढ़े : पर्यावरण मसौदे के खिलाफ पूर्वोत्तर में क्यों हो रहा है विरोध?
ये भी पढ़े : सुशांत केस : बांद्रा पुलिस से सीबीआई ने लिया सुबूत 
ये भी पढ़े : कोरोना से बेहाल पाकिस्तान में क्या है बेरोजगारी का हाल
ये भी पढ़े : महामना पर थमा विवाद, कुलपति ने कहा- उनके आदर्शों…

अमेरिका में ऑपरेशन वॉर्प स्पीड
अमेरिकी सरकार ने ऑपरेशन वॉर्प स्पीड के तहत छह से ज्यादा कंपनियों से टीके की करीब डेढ़ अरब खुराक पाने का समझौता किया है। इस पर उसने 11 अरब डॉलर खर्च किए हैं। इनमें एस्ट्राजेनेका, मॉडर्ना, जेएंडजे शामिल हैं।
साल के अंत तक कहां कितने टीके बनेंगे
फाइजर बायोनटेक 10 करोड़ टीके तैयार कर लेगी साल के अंत तक
सीरम 30 करोड़ वैक्सीन तैयार कर सकती है दिसंबर तक
मॉडर्ना 10 से 15 करोड़ टीके तैयार कर लेगी साल के अंत तक
रूस का गामेलया संस्थान उत्पादन करेगा 50 लाख से एक करोड़ टीका प्रति माह
चीन की कैनसिनो प्रति माह तैयार करेगी 01 से 03 करोड़ खुराक
चीन की सिनोवैक दिसंबर तक प्रति माह तीन करोड़ डोज तैयार करेगी

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button