" /> दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बाढ़ के हालात की समीक्षा की > Ujjawal Prabhat | उज्जवल प्रभात

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बाढ़ के हालात की समीक्षा की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बाढ़ के हालात की समीक्षा की. इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पानी पहुंचने में 36 से 72 घंटे लगते हैं, ऐसे में आज (सोमवार) शाम को यमुना का जलस्तर खतरे के निशान 205.33 को पार कर जाएगा. अगले 2 दिन क्रिटिकल हैं. पूरा प्रशासन अलर्ट पर है.

Loading...

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को निकालने का सिलसिला जारी है. कल से हमारी टीम लोगों को हटाने का काम कर रही है. राहत टेंट में बिजली, पानी, खाने का इंतजाम है. सोमवार शाम 6 बजे तक लोग घर खाली कर दें और टेंट में आ जाएं. कुल 2120 टेंट लगाए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा, इमरजेंसी नंबर 22421656, 21210849 शुरू किए गए हैं. मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पड़ोसी राज्यों ने पानी छोड़ने से पहले हमसे कोई बात नहीं की. उन्होंने कहा कि 30 बोट 30 लोकेशन पर जहां खतरा है, वहां दौरा कर रही हैं. एलजी, सेंट्रल गवर्मेंट सभी साथ मिलकर कर रहे हैं.

यमुना नदी का जलस्तर सोमवार को दिन में 2 बजे 205.14 मीटर दर्ज किया गया. यह 205.33 मीटर के खतरे के निशान को पार करने के कगार पर पहुंच गया, जिसके कारण प्रशासन को दिल्ली को इसके पूर्वी विंग से जोड़ने वाले एक पुल पर यातायात बंद करना पड़ा. हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से आठ लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद यमुना का जल स्तर अब 205.14 मीटर बताया जा रहा है.

दिल्ली सरकार ने नदी के सटे तराई के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के आदेश दिए हैं. बढ़ते जल स्तर को देखते हुए यमुना नदी पर लोहा पुल नाम के एक पुराने पुल को बंद कर दिया गया है.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *