तीन दिन में तीन लाख का इलाज, कोरोना मरीज की मौत, परिजनों का हंगामा

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित मेयो हॉस्पिटल में गुरुवार को इलाज के दौरान एक कोरोना मरीज की मौत हो गई। हॉस्पिटल ने बिना भुगतान शव देने से मना कर दिया। परिजन हॉस्पिटल पर समुचित इलाज में लापरवाही और मनमाना शुल्क वसूलने का आरोप लगा रहे थे। इसे लेकर मेयो हॉस्पिटल और मृतक के परिजनों में शुरू हुई बहस मारपीट में तब्दील ही गई। पुलिस – प्रशासन ने मामला शांत कराया।

Loading...

 
जानकारी के मुताबिक़ राजधानी के पानदरीबा निवासी रमेश कुमार सिंह (45) कोरोना वायरस की चपेट में आए गए थे। तीन सितम्बर को उन्हें मेयो हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। रमेश के परिजनों का आरोप है कि भर्ती के वक्त मरीज की हालत ठीक थी। लगातार वीडियो कॉल से बात भी हो रही थी। लेकिन समुचित इलाज के अभाव में मरीज की मौत हो गई। मरीज की मौत के बाद मनमाना शुल्क मांगा गया। हॉस्पिटल ने बिना भुगतान के शव देने से मना कर दिया।
वहीं हॉस्पिटल की निदेशक डॉ. मधुलिका सिंह का कहना है कि मरीज को वेंटिलेटर पर रखा गया था और करीब तीन लाख रुपये का बिल हुआ था। महज एक लाख रुपये जमा किए। मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने हॉस्पिटल के डॉक्टर व कर्मचारियों से मारपीट की। अब डॉक्टर व कर्मचारी इन परिस्थितयों में काम करने को तैयार नहीं है। मधुलिका सिंह ने जिलाधिकारी से मेयो को कोविड सेंटर से हटाने की मांग की है।
इस मामले में एसीएम पंचम सत्यम मिश्रा ने कहा कि हॉस्पिटल ने परिजनों को शव सौंप दिया गया है। उन्होंने कहा कि शासन ने लेवल-3 अस्पताल में अधिकतम शुल्क 18 हजार रुपए तय किया है। इसलिए बिल की भी जांच कराई जायेगी।
The post तीन दिन में तीन लाख का इलाज, कोरोना मरीज की मौत, परिजनों का हंगामा appeared first on Vishwavarta | Hindi News Paper & E-Paper.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...