‘ड्रैगन’ ने फिर की हिमाकत, लद्दाख में दिखे चीनी हेलीकॉप्टर, भारतीय लड़ाकू विमानों ने रोका- हालात तनावपूर्ण

नई दिल्ली: कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच चीन ने भारतीय सीमा पर हलचल बढ़ा दी है। अब लद्दाख में चीन की दादागिरी देखने को मिली है। बीते 24 घंटों से भी अधिक समय से चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच मामूली झड़पों की खबरें मिल रही हैं। वहीं उत्तरी सिक्किम में LAC यानी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर भारतीय सेना के जवानों और चीनी पीपुल्स लिबरेशन (PLA) के जवानों के आमने-सामने आने के बाद लद्दाख सीमा पर चीनी चॉपर्स देखे जाने का मामला सामने आया है। जिस कारण स्थिति असामान्य रूप से तनावपूर्ण बन गई। इसके तुरंत बाद भारतीय वायुसेना अलर्ट हो गई। भारतीय लड़ाकू विमानों ने लद्दाख सीमा की ओर उड़ान भरी और चीनी चॉपर्स को वापस लौटना पड़ा। वायुसेना इसके बाद वहां गश्त बढ़ा दी।
सरकार के शीर्ष सूत्रों ने बताया, ‘भारतीय लड़ाकू विमानों को लद्दाख सेक्टर में सीमावर्ती क्षेत्रों में ले जाया गया। भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान ने नजदीकी बेसकैंप से उड़ान भरी थी। फिलहाल, चीनी हेलिकॉप्टरों ने भारतीय वायु क्षेत्र का उल्लंघन नहीं किया है।’ पिछले हफ्ते घटी इस घटना में भारतीय और चीनी सैनिक एक-दूसरे से उलझ गए थे। इसके बाद करीब 150 चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश की थी। बताया जा रहा है कि पहली बार भारत ने वर्षों बाद लड़ाकू विमानों को तैनात करके चीन के दुस्‍साहस का करारा जवाब दिया है।
गत एक सप्ताह में भारत और चीन की सेनाओं के बीच कई बार आमना-सामना हुआ। चीनी की आक्रामकता का उद्देश्य पाकिस्तान का समर्थन करने के अलावा भारत के साथ नया मोर्चा खोलने की है। वहीं कोरोना वायरस को लेकर चीन पर उठ रहे सवालों से दुनिया का ध्‍यान भटकाना इसका मकसद हो सकता है। एक तरफ चीन के हेलीकॉप्‍टर भारतीय वायुसीमा क्षेत्र का उल्‍लंघन करने की कोशिश कर रहे हैं तो दूसरी ओर, पाकिस्‍तान के लड़ाकू विमान पिछले कई दिनों से सरहदी इलाकों में लगातार गश्‍त कर रहे हैं। पाकिस्तानी वायु सेना के विमान F-16, JF-17 और मिराज III सरहदी इलाके में गश्ती कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि हंदवाड़ा हमले के बाद भारत के पलटवार से पाकिस्तान सतर्क है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button