टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें -श्री अमित मोहन प्रसाद

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि आज मा0 मुख्यमंत्री जी ने जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर तथा मुरादाबाद में प्राथमिकता के आधार पर लक्षित आयु वर्ग के लोगों को कोविड टीकाकरण कराने के निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि आज मा0 मुख्यमंत्री जी प्रयागराज और वाराणसी के निरीक्षण पर गये है। वहां पर कोरोना से संबधित अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे है। उन्होंने बताया कि लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी व कानपुर नगर में सरकारी व अर्धसरकारी कार्यालयों में 50 प्रतिशत ही कर्मी कार्यालय आयेंग, इसकेे अतिरिक्त 50 प्रतिशत कर्मचारी वर्क फ्राॅम होम रहकर ही कार्य को सम्पादित करेंगे। इन सभी कर्मियों को रोस्टरवार बनाकर ही बुलाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री ने आगरा, बरेली, झांसी में कोविड-19 के संबंध में निरीक्षण करेंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री भी 04  जनपदों का निरीक्षण करेंगे।


श्री सहगल ने बताया कि मा0 प्रधानमंत्री जी ने आगामी 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले की जयन्ती से लेकर 14 अप्रैल, 2021 को बाबा साहब डाॅ0 बी0आर0 आंबेडकर की जयन्ती तक, ‘टीका उत्सव’ मनाए जाने का आह्वान किया है। इसके तहत पूरे प्रदेश में ‘टीका उत्सव’ आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि टीका उत्सव में प्रदेश के लक्षित आयु वर्ग के लोग बढ़-चढ़कर भाग लें। उन्होंने ‘टीका उत्सव’ के सफल आयोजन के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क के अनिवार्य उपयोग पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण के प्रति जागरूकता तथा कोरोना से सम्बन्धित अन्य आवश्यक विचार-विमर्श के उद्देश्य से राज्यपाल महोदया की उपस्थिति में 03 दिवसीय संवाद का विशेष कार्यक्रम प्रारम्भ हो रहा है। आगामी 11 अप्रैल को राज्यपाल जी और वे राजनीतिक दलों के अध्यक्षों तथा सदन के दलीय नेताओं के साथ विचार-विमर्श करेंगे। 12 अप्रैल, 2021 को राज्यपाल जी तथा मुख्यमंत्री जी समस्त महापौर एवं पार्षदों के साथ संवाद का विशेष कार्यक्रम होगा। इसी क्रम में आगामी 13 अप्रैल को राज्यपाल जी तथा मुख्यमंत्री जी का धर्मगुरुओं के साथ संवाद होगा। उन्होंने बताया कि 11 से 14 अप्रैल, 2021 के मध्य चलने वाले टीका दिवस के अभियान में 25 लाख लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है।


श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। प्रदेश सरकार द्वारा धान की रिकार्ड खरीद की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने हेतु 6000 क्रय केन्द्र स्थापित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि एक नई व्यवस्था के तहत कृषक उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) को भी क्रय केन्द्र खोलने की अनुमति दी गयी है। उन्होंने बताया कि किसान उत्पादक संगठन 150 केन्द्रों के माध्यम से संचालित किया जायेगा। उन्होंने जिलाधिकारियों के द्वारा कृषक उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) को भी क्रय केन्द्रों से जोड़कर गेहूं क्रय का कार्यक्रम शुरू कर दिया गया है। यह व्यवस्था प्रदेश में पहली बार हो रही है। 01 अप्रैल से 15 जून, 2021 तक गेहू खरीद का अभियान जारी रहेगा। गेहू क्रय अभियान में अब तक 46,776.05 मी0 टन से अधिक गेहूं खरीदा गया है। मुख्यमंत्री जी ने सभी जिलाधिकारी गेहूं क्रय केन्द्रों का लगातार स्वयं या अपने अधीनस्थ अधिकारियों के माध्यम से निरीक्षण करने के निर्देश दिये गये है। किसानों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।


श्री सहगल ने बताया कि आपदा से प्रभावित लोगों को हर सम्भव मदद व राहत समय से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में आग लगने की दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त सजगता बरती जाए। सभी जनपदों में अग्निशमन केन्द्रों को पूरी तरह सक्रिय रखा जाए। उन्होंने आग लगने की दुर्घटना होने पर प्रभावित लोगों को 24 घण्टे में अनुमन्य मुआवजा राशि वितरित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि बिजली के तार से आग लगने की स्थिति में पावर कारपोरेशन द्वारा 24 घण्टे में पीड़ितों को राहत राशि वितरित की जाए। खेत-खलिहान में आग लगने पर प्रभावित किसानों को जिला प्रशासन के माध्यम से मण्डी परिषद द्वारा 24 घण्टे में राहत राशि वितरित की जाए। आग लगने से घर जल जाने पर प्रभावित लोगों को जिला प्रशासन 12 घण्टे में राहत धनराशि उपलब्ध कराये।


अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग का कार्य करते हुए, टेस्टिंग की क्षमता बढ़ायी गयी है। गत एक दिन में कुल 1,97,479 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 3,63,44,993 सैम्पल की जांच की गयी है। इसमें 86,000 सैम्पलों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 9,695 नये मामले आये है। प्रदेश में 48,306 कोरोना के एक्टिव मामले में से 22,904 लोग होम आइसोलेशन में हैं। निजी चिकित्सालयों में 835 मरीज अपना इलाज करा रहे है तथा शेष मरीज सरकारी चिकित्सालयों में निःशुल्क इलाज भी करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 6,06,646 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,94,606 क्षेत्रों में 5,21,932 टीम दिवस के माध्यम से 3,18,96,749 घरों के 15,47,08,245 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में 45 वर्ष सेे अधिक आयु वालों का कोविड वैक्सीनेशन किया जा रहा है। अब तक 69,68,387 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 11,97,401 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गयी हैं। इस प्रकार कुल 81,65,788 लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है।


श्री प्रसाद ने बताया कि 11 अप्रैल, 2021 से 14 अप्रैल, 2021 तक टीका उत्सव मनाया जायेगा। टीका उत्सव के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण देने के लिए कल 10 अप्रैल, 2021 को सिर्फ मेडिकल काॅलेजों तथा जिला अस्पतालों में ही कोविड टीकाकरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 11 अप्रैल को टीका उत्सव 6000 केन्द्रों से शुरू किया जायेगा जिसे 14 अप्रैल तक 8000 केन्द्रों तक किया जायेगा। सभी सरकारी कार्यालयों व निजी कार्यालयों में 45 वर्ष से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जायेगा। उन्हांेने बताया कि प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी तथा कानपुर नगर में कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा सभी सरकारी व निजी कार्यालयों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ कार्य करने का आदेश जारी किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त बाकी 50 प्रतिशत कर्मचारी वर्क फ्राॅम होम से कार्य करेंगे।


श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण नियंत्रित करने के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम निगरानी समिति, मोहल्ला निगरानी समिति को पुनः सक्रिय किया गया है। इन समितियों के माध्यम से संक्रमण वाले प्रदेशों से आने वाले लोगों की पहचान कर, उनसे संक्रमण की जानकारी लेते हुए आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने प्रदेश के बाहर से आने वाले लोगों से अपील की गयी है कि वे अपनी सामाजिक जिम्मेदारी समझे और घर में ही 10 से 14 दिन रहे। संक्रमण का कोई भी लक्षण दिखायी देने पर कोविड-19 की जांच अवश्य कराये। इससे स्वयं को और अपने परिवार को कोविड-19 से सुरक्षित किया जा सकेगा।


श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण को देखते हुए अत्यधिक सावधान रहना जरूरी है। मास्क का प्रयोग समाज के प्रति जिम्मेदारी व सामाजिक उत्तरदायित्व का पालन है। उन्होंने बताया कि संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। अपने हाथ को साबुन-पानी से निरन्तर धोते रहें। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। उन्होंने कहा कि घर के बड़े-बुजुर्गों का टीकाकरण अवश्य कराएं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button