चीन के सरकारी बैंक ने खरीदी इस भारतीय बैंक में हिस्सेदारी

जुबिली न्यूज़ डेस्क
नई दिल्ली। देश में चीन को लेकर तनाव बना हुआ है। चीनी माल के बहिष्कार और चीन विरोधी माहौल के बीच खबर है कि चीन के पीपल्स बैंक ऑफ चाइना ने ICICI में हिस्सेदारी खरीदी है। हालांकि जानकार कहते हैं कि इससे देशहित के लिए किसी तरह का कोई खतरा नहीं है।
पिछले साल मार्च में चीन के केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी में अपना निवेश बढ़ाकर 1 फीसदी से ज्यादा किया था। तब इस पर काफी हंगामा भी हुआ था।
ये भी पढ़े: अवैध खनन के खिलाफ स्वामी शिवानंद का आमरण अनशन
ये भी पढ़े: असम में बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आये अक्षय कुमार, दी इतनी रकम

पीपल्स बैंक ऑफ चाइना म्यूचुअल फंडों, बीमा कंपनियों सहित उन 357 संस्थागत निवेशकों में शामिल है, जिन्होंने हाल में ICICI बैंक के क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) ऑफर में 15,000 करोड़ का निवेश किया है।
ये भी पढ़े: रिश्तें फिर हुए शर्मसार: चचेरा भाई करता था गंदा काम फिर एक दिन
ये भी पढ़े: इस ग्रुप को मिला IPL का टाइटल स्पॉन्सर
ICICI बैंक ने पूंजी जुटाने के लिए संस्थागत निवेशकों से पैसा जुटाने के लिए कोशिश की थी और पिछले हफ्ते ही उसका टारगेट पूरा हुआ है। चीन के केंद्रीय बैंक ने ICICI में महज 15 करोड़ का निवेश किया है और यह निवेश क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट के जरिए हुआ है।

एक्सपर्ट्स की माने तो बैंकिंग भारत में काफी रेगुलेटेड यानी रिजर्व बैंक की सख्त निगरानी में रहने वाला कारोबार है, इसलिए इससे देशहित को कोई खतरा नहीं हो सकता। बता दें कि पिछले साल इस चीनी बैंक ने हाउसिंग लोन कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड में निवेश किया था जिस पर काफी हंगामा हुआ था।
ये भी पढ़े: सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज का बड़ा ऐलान, कहा- एमपी के युवाओं…
ये भी पढ़े: फेसबुक विवाद : क्या विपक्ष की मांग पर सरकार करेगी विचार ?

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button