घर में बढ़े झगड़े तो पहले पत्नी को उतारा मौत के घाट फिर लगा ली फांसी

न्यूज़ डेस्क
लखनऊ। कोरोना कहर को देखते हुए सरकार ने 21 दिन के लिए देश में लकडाउन की घोषणा की है। ऐसे में लोगों के सामने रोजी-रोटी की समस्या पैदा हो गई है। इस बीच यूपी के झांसी से एक दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है।
जहां पर लॉकडाउन के कारण काम छूट गया था। जिससे उसके सामने रोजी-रोटी का संकट आ गया, जिससे दु:खी हो कर युवक ने पत्नी की हत्या कर,खुद को फांसी लगाकर जान दे दी है।
ये भी पढ़े: क्या हम तीसरा विश्वयुद्ध लड़ रहे हैं ?

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद गृहक्लेश को हत्या का कारण बताया। मृतक की बेटियों का कहना था कि पिता खेती-किसानी करते थे। कम जोत होने के कारण गुजर बसर नहीं होता था इसलिए मजदूरी भी करते थे। लॉकडाउन होने से इन दिनों कोई काम नहीं मिल रहा था। इसलिए घर में झगड़े बढ़ गए थे।
ये भी पढ़े: योगी का ऐलान- एक मार्च के बाद UP में प्रवेश करने वालों का होगा कोरोना टेस्ट
बता दें कि लखन कुशवाहा मऊरानीपुर (झांसी) के गांव खिलारा में पत्नी राजकुमारी और 6 बेटियों के साथ रहता था। आर्थिक स्थिति ठीक न होने और गृह कलह से वह मानसिक रूप से परेशान था। लॉकडाउन की वजह से खाने तक के लाले पड़ गए थे।
लखन का पत्नी से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। इस पर उसने गुस्से में आकर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद कमरे में जाकर फांसी लगा ली।
बेटियां जब तक कुछ समझ पातीं दोनों की मौत हो चुकी थी। चीख- पुकार सुनकर जुटे ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस का कहना है कि आर्थिक तंगी की वजह से पति- पत्नी में अक्सर झगड़ा होता था। काम धंधा न होने से लखन मानसिक तनाव में था।
ये भी पढ़े: मुश्किल की घड़ी में सीएम योगी ने लिए ये मानवीय फैसले

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button