गोंडा: गौशाला अधूरा, नही मिल पा रहा छुट्टा जानवरों से निजात

बालपुर(गोंडा)। प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता गौशाला बनवाकर कर छुट्टा जानवरों से किसानों को निजात दिलाना है और मवेशियों के मल-मूत्र से जैविक खाद बनाने के लिए प्रतिबन्ध है। लेकिन गौशाला की योजना प्रधान व अधिकारियों की उदासीनता के कारण फेल हो रही है। जिससे किसानों की फसल पर ग्रहण लगा हुआ है। तमाम पूंजी लगाकर किसान दिन रात मेहनत करके खेतो में फसल तैयार करते है। लेकिन अगर रखवाली करने से चुके तो छुट्टा जानवर फसल चट कर जाते है। किसानों की आय दो गुना करने के बजाय उनकी पूँजी भी नही निकल रही है।

विकास खण्ड हलधरमऊ के चकसेनिया गांव में 18 माह पहले तत्कालीन जिला अधिकारी कैप्टन प्रभांशु व जिला पंचायत अध्यक्ष केतकी सिंह के साथ क्षेत्रीय विधायक बावन सिंह ने समारोह करके गौशाला का शिलान्यास किया था। जिससे क्षेत्र के करीब दो दर्जन गांव पंचायत के किसानों को उम्मीद जगी थी कि अब हमारी फसल छुट्टा जानवर चट नही कर पायेंगे। जिला अधिकारी ने गौशाला निर्माण की जिम्मेदारी गांव पंचायत को मनरेगा योजना से बनवाने की थी। लेकिन गौशाला निर्माण नही हुआ। केवल जेसीवी से चारो तरफ खुदाई के बाद काम बंद हो गया।

जबकि शिन्यास समारोह के दौरान क्षेत्रीय विधायक बावन सिंह व जिला पंचायत अध्यक्ष केतकी सिंह ने 50 -50 हजार रुपया निर्माण में सयोग के लिए दिया था। क्षेत्र के सोनू पाण्डेय, माधव राज,अनिल उपाध्याय,दिनेश मिश्र, राघवेंद्र पांडेय, संजय तिवारी, रूपेश मिश्र, राधेश्याम मिश्र, दूधनाथ, सुरेश मिश्र, अवधेश शुक्ल, शीतला शर्मा, सूबेदार तिवारी, अंकित तिवारी सहित अन्य किसान गौशाला निर्माण करवाने की मांग जिला अधिकारी से किया है।गौशाला निर्माण न होने से किसानों में आक्रोश ब्याप्त है।

गौशाला निर्माण से 24 गांवो के किसानों को मिलेगा लाभ

बालपुर (गोण्डा) । चकसेनिया में गौशाला बनाने से पतिसा,बालपुर, गोगिया, हड़ियागाड़ा, खरथरी, पतिसा, भटनैया, भरसड़ा, सोनहरा, सालपुर, डोमा आहलाद, सेमरी, चन्द्रापुर, सोनहरा, चकसेनिया, रेरूवा, परसा , गुरुपुरवा सहित अन्य गांव के लोगो को छुट्टा जानवरो से निजात मिल सकती है।

पानी मे डूब रही बालिका को ग्रामीणों ने बचाया

बालपुर(गोंडा)। सड़क किनारे गड्ढे में डूब रही 16 वर्षीय बालिका को ग्रामीणों ने पानी मे कूदकर बचाया। जिला मुख्यालय के एक निजी नर्सिग होम में ,उसका इलाज चल रहा है। थाना परसपुर क्षेत्र के दूबे पुरवा चन्दा पुर में रविवार की सुबह प्रवीण दूबे की 16 वर्षीया पुत्री निक्की दूबे मार्निग वाक कर रही थी।

जिसके बाद सड़क किनारे पैर फिसल गया और वह सड़क पटाने के लिए मिट्टी निकाला गया था। उसी में निक्की डूबने लगी।शोर सुनकर आसपास के लोगो ने दौड़कर उसे डूबने से बचा लिया।हालत गम्भीर होने पर मुख्यालय के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया है।जहाँ इलाज चल रहा है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button